होम /न्यूज /बिहार /'सुशासन' बाबू छाती ठोक कर घूस और कमीशन वसूल कर रहे हैं- तेजस्वी यादव

'सुशासन' बाबू छाती ठोक कर घूस और कमीशन वसूल कर रहे हैं- तेजस्वी यादव

नीतीथ चाचा गिरगिट की तरह बदलते हैं रंग (फाइल फोटो)

नीतीथ चाचा गिरगिट की तरह बदलते हैं रंग (फाइल फोटो)

'आवाज उठाओगे तो ऐसे ही ज़िंदा जला दिए जाओगे! साथ आओगे तो पाप की लंका में जी भर के कमाओगे! नेताओं की गाड़ियों में अनुकम्प ...अधिक पढ़ें

    बिहार(Bihar) के गोपालगंज में रिश्वत ना देने पर चीफ इंजीनियर को जलाकर मारने के मामले में आरजेडी(RJD) नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश(Nitish Kumar) सरकार पर हमला बोला है. तेजस्वी ने एक ओपन लेटर लिखा है  जिसमें उन्होंने सरकार की विफलताओं का जिक्र किया है.

    तेजस्वी ने लिखा...

    बदमाश दुशासनी राज में घटित देश में अपराध और भ्रष्टाचार का यह अनूठा मामला है. जहां नीतीश जी के एक चीफ इंजीनियर ने अपने ही घर में ठेकेदार से 15 लाख रिश्वत मांगी और नहीं देने पर ज़िंदा जला दिया.‬ ‪हिम्मत है किसी में जो CM से इसपर सवाल पूछ सके? यह अपराध और भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है.

    शर्म है कि सरकार साहेब को आती नहीं! रोज़ हत्या, बलात्कार, लूटपाट की थोक में आती खबरों का यह आलम है कि हर अपराध का जघन्य कांड अब आम और स्वाभाविक बन गया है. अफसरशाही तो इस चरम पर पहुंच गया है कि बाबू लोग अब खुलेआम रेट कार्ड लगाकर 'सुशासन' -प्रदत्त मूल अधिकार की भांति छाती ठोक घूस व कमीशन वसूल कर रहे हैं.


    गोपालगंज में एक अभियंता देव ने अपने ही घर में 15 लाख रुपये घूस स्वरूप चढ़ावा नहीं देने पर किरासन तेल छिड़ककर ठेकेदार को आग लगा सुशासन की बलि चढ़ा दिया. कोई और राज्य होता तो पूरे सूबे और सरकार व प्रशासन में आग लग गई होती.

    चौतरफा हाहाकार मच गया होता. जंगलराज के अफ़साने सुनाए जाते. लेकिन यहां तो पर स्वयं घोषित कथित सुशासन बाबू का सुशासन है. हर अपराध, हर कुकर्म डंके की चोट पर होता है. हर रंगदारी, हर घूस की हिस्सेदारी सत्तारूढ़ दलों के कुकर्मी नेताओं के जेब में ठूंसा जाता हो तो हड़कंप क्यों मचता! फ़र्जी व काल्पनिक काम, हर नदारद काम के नाम पर वसूली, कमीशनखोरी व घूस और सबका चढ़ावा RCP टैक्स के नाम पर जेडीयू-भाजपा के शैतानी जोड़ी के हवाले!.


    आवाज उठाओगे तो ऐसे ही ज़िंदा जला दिए जाओगे! साथ आओगे तो पाप की लंका में जी भर के कमाओगे! नेताओं की गाड़ियों में अनुकम्पा के 'सिंघम' अफ़सर आएंगे और नागरिकों का खून चूस चूसकर सुशासन के कुकर्मी नेताओं को चढ़ाएंगे! 'सुशासन' में बंदरबांट, घूस, कमीशन की छूट मची है, जनादेश चोरी के दीमक लूट रहे है.

    ये भी पढ़ें:

    ठेकेदार हत्याकांड: आखिर फरार क्यों हुए आरोपी चीफ इंजीनियर?

    नहीं दी रिश्वत तो ठेकेदार को जिंदा जला डाला! SIT करेगी जांच

    Tags: Bihar News, Nitish kumar, Tejashwi Yadav

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें