तेजस्वी पर बिफरे CM नीतीश, कहा- बैठ जाओ, मेरे ऊपर बोलने का हक तुम्हारे पिता को
Patna News in Hindi

तेजस्वी पर बिफरे CM नीतीश, कहा- बैठ जाओ, मेरे ऊपर बोलने का हक तुम्हारे पिता को
तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) जब बोल रहे थे तो तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) उठे और उन्होंने उन्हें इंगित करते हुए कहा कि जो बोल रहे हैं उसे लिखित में बंटवा दीजिए, टाइम मत बर्बाद कीजिए. इस पर सीएम नीतीश ने तेजस्वी को कहा - ज्यादा मत बोलो, बैठ जाओ-बैठ जाओ, मेरे ऊपर बोलने का अधिकार तुम्हें नहीं, तुम्हारे पिताजी को है. बैठ जाओ-बैठ जाओ

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में मंगलवार को NPR, NRC और CAA जैसे मुद्दों पर विपक्ष के कार्य स्थगन प्रस्ताव की मांग पर बहस के दौरान जमकर हंगामा हुआ. इसे विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और अन्य लोगों ने आगे बढ़ाया और संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार की आपत्ति के बाद स्पीकर विजय कुमार चौधरी ने मंजूरी दे दी. जैसे ही बहस की शुरुआत हुई विरोधी दलों के विधायकों ने NRC, CAA और NPR जैसे मुद्दे को काला कानून कहा. इस शब्द का प्रयोग होते ही सदन में हंगामा शुरू हो गया. आरजेडी विधायकों ने मंत्री नंद किशोर यादव, मंत्री विजय सिन्हा और मंत्री प्रमोद कुमार पर विरोधी दल के कुछ विधायकों को धमकी देने का आरोप लगाया. इस बात को लेकर सदन के अंदर हाथापाई की नौबत आ गई.

काफी देर तक हंगामा के हालात बने रहे. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष द्वारा सदन की कार्यवाही 15 मिनट तक रोक दी गई. फिर जब दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने CAA, NRC और NPR जैसे मुद्दे पर एक-एक कर विरोधी पार्टी के हर सवाल का जवाब दिया. बिहार विधानसभा में NPR और NRC पर दो घंटे की विशेष चर्चा हुई. सीएम नीतीश कुमार ने सदन में बोलते हुए कहा की राज्य में NRC की कोई आवश्यकता नहीं है.

NPR के नए प्रावधान पर बिहार सरकार ने केंद्र को लिखी चिट्ठी



NPR के नए प्रावधान हटाए जाएं नहीं तो भविष्य में कभी NRC हुआ तो इससे लोगों को खतरा होगा. NPR पर केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को पत्र भेजा है, जिसके आधार पर अधिसूचना जारी की गई है. वर्ष 2010 के इतर इस साल कुछ नया प्रावधान जोड़ा गया है. मसलन माता-पिता के जन्म स्थान के बारे में जानकारी मांगी गई है. 15 फरवरी को राज्य सरकार की तरफ से केंद्र को NPR के बारे में एक पत्र भेजा गया है.



इस पत्र में बिहार सरकार ने NPR का आधार वर्ष 2010 बनाने का आग्रह किया है. ट्रांसजेंडर वाले कॉलम को छोड़कर शेष नए प्रावधान को हटाने का आग्रह किया गया है. सीएम नीतीश ने कहा कि NPR के नए प्रावधान से अगर कभी NRC हुआ तो लोगों को उससे खतरा होगा. राज्य सरकार द्वारा केंद्र को भेजे गए पत्र को विधानसभा की सर्वसम्मति का प्रस्ताव बनाकर पारित किया जाए. NRC का सिर्फ हौव्वा खड़ा किया जा रहा है. मेरे अलावा प्रधानमंत्री भी स्पष्ट कर चुके हैं कि NRC की कोई चर्चा नहीं है. मैं भी मानता हूं कि NRC की कोई आवश्यकता नहीं है.

मुख्यमंत्री जब बोल रहे थे तो तेजस्वी यादव उठे और उन्होंने उन्हें इंगित करते हुए कहा कि जो बोल रहे हैं उसे लिखित में बंटवा दीजिए, टाइम मत बर्बाद कीजिए. इस पर सीएम नीतीश कुमार ने तेजस्वी को कहा - ज्यादा मत बोलो, बैठ जाओ-बैठ जाओ, मेरे ऊपर बोलने का अधिकार तुम्हें नहीं, तुम्हारे पिताजी को है. बैठ जाओ-बैठ जाओ.

तेजस्वी ने वर्ष 2015 का हवाला देकर CM नीतीश पर साधा निशाना

सीएम नीतीश की ये बात सुनकर तेजस्वी यादव ने कहा कि आप पर कैसे भरोसा करें, वर्ष 2015 में हमने आपका पलटना देखा है. आप क्या बोलेंगे, आप पर भरोसा नहीं किया जा सकता है. एनआरसी पर प्रस्ताव लाइये और इसको पारित करवाइये, तब देखते हैं.

हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी की बात को तवज्जो नहीं दी और लगातार बोलते रहे. बता दें कि सीएम नीतीश के भाषण के दौरान तेजस्वी टोका-टोकी कर रहे थे. बाद में तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया की मुख्यमंत्री NPR को लेकर अभी भी तस्वीर साफ नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि NPR का फॉर्म सदन के अंदर बटवाया जाए और फिर उसमें कौन सा विवादित मुद्दा है. उस पर नीतीश जी क्या रुख रखते हैं तस्वीर स्पष्ट करें.

हालांकि सदन के अंदर भले ही माहौल गर्म रहा, लेकिन जैसे ही सदन की कार्यवाही खत्म हुई तेजस्वी यादव को नीतीश कुमार ने अपने कमरे में बुलवाया और NPR पर सदन में प्रस्ताव लाने के लिए क्या सुझाव है चर्चा की.

ये भी पढ़ें-

CAA को CM नीतीश का 'खुल्लमखुल्ला' समर्थन, पढ़ें NRC और NPR पर क्या कहा

CAA पर बोली RJD- एक इंच पीछे नहीं हटने वाला बयान महाभारत कराने जैसा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading