...जब सीढ़ी लगाकर पटना की सड़कों पर खुद पोस्टर लगाने लगे तेजस्वी, जानें क्या है मामला
Patna News in Hindi

...जब सीढ़ी लगाकर पटना की सड़कों पर खुद पोस्टर लगाने लगे तेजस्वी, जानें क्या है मामला
तेजस्वी यादव ने पटना में खुद लगाए पोस्टर.

तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) आज आरजेडी कार्यालय पहुंचे और फुल एक्शन में दिखे. सीधे ऑफिस के बाहर खुद से पोस्टर लगाने लगे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
पटना. बिहार में नेता प्रतिपक्ष व आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) पुलिस मुख्यालय की उस चिट्ठी को लेकर नीतीश सरकार (Nitish Government) पर अब हमलावर हैं जिसमें प्रवासियों के आने से कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका व्यक्त की गई थी. आरजेडी नेता ने  इसको लेकर एक बड़ा पोस्टर बनवाया है जिसे पटना के हर जगह पर लगाया जाएगा. इस पोस्टर (Poster) में उस चिट्ठी का ओरिजिनल फोटो है. साथ ही नीतीश कुमार से कई सवाल भी पूछे गए हैं. सबसे खास बात ये है कि तेजस्वी यादव खुद पोस्टर लगाने पटना की सड़कों पर उतर आए.

तेजस्वी ने  खुद लगाया पोस्टर 
तेजस्वी यादव आज आरजेडी कार्यालय में पहुंचे और फुल एक्शन में दिखे. सीधे आरजेडी कार्यालय के बाहर पोस्टर खुद से लगाने लगे. तेजस्वी यादव सीढ़ी पर चढ़कर पोस्टर लगा रहे थे. आपको बता दें कि यह पहली दफा है जब तेजस्वी यादव इस तरह से सरेआम पोस्टर लगाते हुए दिखे हैं.

PHQ ने व्यक्त की थी आशंका



पोस्टर लगाने के बाद तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात की और कहा कि नीतीश कुमार रोजगार के नाम पर मजदूरों को धोखा दे रहे हैं. बिहार सरकार के पास प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने का कोई रोडमैप नहीं है. इसके बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि चिट्ठी में मजदूरों को अपराधी बताया गया है. यह मजदूरों का अपमान है. आरजेडी इसका बदला जरूर लेगी.



बता दें कि 29 मई को पुलिस मुख्यालय (Police HQ) की तरफ से एक चिट्ठी जारी की गई थी, जिसमें एडीजी अमित कुमार की तरफ से यह लिखा गया कि दूसरे राज्यों से जो बिहारी मजदूर आ रहे हैं, उन्हें रोजगार देना संभव नहीं है. इसलिए वह तनाव में रहेंगे. तनाव में होने की वजह से वह विधि व्यवस्था को प्रभावित कर सकते हैं. इस पर तेजस्वी यादव ने कड़ी आपत्ति जाहिर की है.

PHQ ने लिया था यू टर्न
हालांकि बाद में पुलिस मुख्यालय ने 4 जून को इस चिट्ठी का खंडन करते हुए कहा कि यह भूल बस प्रकाशित हो गया था. इसे वापस लिया जाता है.  इस पर तेजस्वी यादव ने उस चिट्ठी को फाड़ते हुए कहा कि सरकार मजदूरों को धोखा दे रही है. इसे वापस लेने में भी एक सप्ताह का समय लग गया. यह मजदूरों के साथ धोखाधड़ी है.

बीजेपी-जेडीयू को सत्ता का भूख
तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के साथ-साथ बीजेपी पर भी कड़ा प्रहार किया. तेजस्वी यादव ने कहा कि बीजेपी अपनी राजनैतिक महत्वाकांक्षा की भूख मिटाने के लिए इस तरह की रैली कर रही है. उन्हें सिर्फ सत्ता की भूख है. जबकि आरजेडी मजदूरों का भूख मिटाना चाहती है. आरजेडी चाहती है कि मजदूर भूखे न रहें और इसके लिए आरजेडी लगातार संघर्ष करती रहेगी.

चिराग जवानी के आडवाणी हो गए है
सात जून को आरजेडी 11:00 बजे से लेकर 11:11मिनट तक थाली पीट-पीटकर विरोध जताएगी. तेजस्वी यादव ने चिराग पासवान के उस सवाल पर हमला किया जिसमें चिराग ने कहा था कि तेजस्वी के पास कोई नेतृत्व क्षमता नहीं है. उस पर तेजस्वी ने कहा कि चिराग जवानी के आडवाणी हो गए हैं.

ये भी पढ़ें

बिहार: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के 8 अधिकारी चोरी, फिरौती और अपहरणकांड के दोषी! कुर्की की तैयारी

महागठबंधन में टेंशन! मांझी, कुशवाहा और मुकेश सहनी ने देर रात की सीक्रेट मीटिंग
First published: June 6, 2020, 2:30 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading