लाइव टीवी

तेजस्वी यादव ने गिरगिट से की CM नीतीश की तुलना, कहा- उनके लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद

News18 Bihar
Updated: October 6, 2019, 5:31 PM IST
तेजस्वी यादव ने गिरगिट से की CM नीतीश की तुलना, कहा- उनके लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद
राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कथित रूप से ‘गिरगिट जैसे’ चरित्र वाला बताया और कहा कि राज्य में उप चुनाव का धर्मनिरपेक्ष महागठबंधन के स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को कथित रूप से ‘गिरगिट जैसे’ चरित्र वाला बताया और भविष्य में उनके धर्मनिरपेक्ष महागठबंधन में लौटने की किसी भी संभावना से इनकार किया.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में आगामी उपचुनाव के लिए महागठबंधन (Mahagathbandhan) के घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे पर असहमति के स्वरों के बीच राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने रविवार को कहा कि राज्य में उप चुनाव का धर्मनिरपेक्ष महागठबंधन के स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कथित रूप से ‘गिरगिट जैसे’ चरित्र वाला बताया और भविष्य में उनके धर्मनिरपेक्ष महागठबंधन में लौटने की किसी भी संभावना से इनकार किया. तेजस्वी यादव ने नीतीश पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने समाजवादी और धर्मनिरपेक्ष राजनीति को खतरे में डालने में आरएसएस और भाजपा की मदद की.

जल जमाव, एईएस, मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला सरकार द्वारा सृजित की गईं आपदाएं हैं
राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता ने बिहार में बाढ़ के बाद भाजपा-जद (यू) सरकार के राहत एवं बचाव कार्य पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राज्य की जनता ने इस भीषण बाढ़ में खुद को असहाय महसूस किया है, साथ ही नीतीश कुमार की ‘असंवेदनशीलता’ को देखा है. जनता इसका जवाब मतदान केंद्रों पर सीएम नीतीश को देगी. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘बाढ़, जल जमाव, एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से होने वाली मौतें, मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला प्राकृतिक आपदाएं नहीं हैं, बल्कि भ्रष्टाचार के कारण सरकार द्वारा सृजित की गईं आपदाएं हैं.’

इस विधानसभा की उम्र मुश्किल से 10 महीने है

महागठबंधन के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर असहमति के बारे में पूछे जाने पर यादव ने कहा, ‘हम इसे परिप्रेक्ष्य में समझते हैं. ये उपचुनाव केवल पांच विधानसभा क्षेत्रों के लिए है और इस विधानसभा की उम्र मुश्किल से 10 महीने है.’

इन दो घटक दलों ने उप चुनाव के लिए उतारे अपने उम्मीदवार 
महागठबंधन के घटक दलों के बीच मतभेद तब सामने आए जब जीतन राम मांझी की हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) ने नाथनगर में राजद के खिलाफ अपना उम्मीदवार खड़ा कर दिया, जबकि मुकेश साहनी के नेतृत्व वाली विकासशील इंसान पार्टी ने सिमरी बख्तियारपुर सीट पर अपने उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतार दिया. समस्तीपुर लोकसभा सीट के लिए 21 अक्टूबर को उपचुनाव होंगे, इस सीट से लोजपा के सांसद की मृत्यु हो गई थी जबकि दरौंदा, नाथनगर, सिमरी बख्तियारपुर, किशनगंज और बेलहर विधानसभा क्षेत्रों में से 4 में जदयू के और एक विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस का विधायक है.(पीटीआई इनपुट के साथ) 

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 6, 2019, 4:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर