Bihar Chunav: तेजस्‍वी का नीतीश पर 'प्रहार', बोले- वे थक चुके हैं, जमीनी हकीकत पहचानने के बाद किया संन्‍यास का ऐलान

तेजस्वी यादव और सीएम नीतीश कुमार.
तेजस्वी यादव और सीएम नीतीश कुमार.

Bihar Assembly Election: बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के प्रचार के आखिरी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने राजनीति से रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है. इस बीच, आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बड़ा बयान दिया है.

  • Share this:
पटना. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के तीसरे चरण के प्रचार के आखिरी दिन धमदाहा की रैली में राजनीति से संन्‍यास का ऐलान कर सबको हैरान कर दिया है. उन्‍होंने रैली को संबोधित करते हुए जनता से कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 मेरा अंतिम चुनाव होगा. इसके बाद आरजेडी, लोजपा और कांग्रेस उन पर हमलावर हो गई है. इस बाबत आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा कि मैं जो बात पहले से कहता रहा हूं कि नीतीश कुमार थक चुके हैं, उनसे बिहार संभल नहीं रहा है. वो जमीनी हकीकत को पहचान नहीं पाए और जब उन्हें अहसास हुआ तो उन्होंने संन्यास लेने की घोषणा कर दी है.

नीतीश कुमार ने किया ये ऐलान
बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने धमदाहा में रैली में जनता से कहा, 'आप जान लीजिए आज तीसरे चरण के प्रचार का आखिरी दिन है. अब परसों चुनाव है और ये मेरा अंतिम चुनाव है. अंत भला तो सब भला. अब आप बताइए वोट दीजिएगा ना इनको. हम इन्‍हें जीत की माला समर्पित कर दें. बहुत बहुत धन्‍यवाद.'





चिराग ने कही ये बात
लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने नीतीश कुमार के बिहार चुनाव 2020 को आखिरी चुनाव कहने के बाद जोरदार हमला बोला है. उन्‍होंने ट्वीट किया, 'साहब ने कहा है कि यह उनका आख़िरी चुनाव है. इस बार पिछले 5 साल का हिसाब दिया नहीं और अभी से बता दिया अगली बार हिसाब देने आएंगे नहीं. अपना अधिकार उनको ना दें जो कल आपका आशीर्वाद फिर मांगने नहीं आएंगे. अगले चुनाव में ना साहब रहेंगे ना जेडीयू. फिर हिसाब किससे लेंगे हम लोग?



कांग्रेस ने भी साधा निशाना
कांग्रेस पार्टी महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बिहार का चुनाव भविष्य की राजनीति का भाग्य बदलने वाला है.उन्होंने कहा, ‘तीसरे चरण का चुनाव प्रचार थमने के बाद महागठबंधन की जीत की सौंधी खुशबू आ रही है. इस खुशबू में युवाओं के रोजगार की, किसान की कर्ज माफी की, फसलों के दाम की, अपराध पर लगाम की, बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य की, नए उद्योग-धंधों की, प्रवासी मजदूरों के लिए आशा की एक नई किरण की उम्मीदें हैं. साथ ही सुरजेवाला ने दावा किया कि नीतीश बाबू ने तो तीसरे चरण के चुनाव से पहले ही इस चुनाव को अपना ‘आखिरी चुनाव’ बता जेडीयू-भाजपा की हार स्वीकार कर ली है. पर जान लें कि जेडीयू-भाजपा का ‘टायर्ड व रिटायर्ड नेतृत्व’ जिन्होंने अब रिटायरमेंट की घोषणा भी कर दी है, वो बिहार को हरा नहीं पाएंगे.

हालांकि आज ही भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने दरभंगा में कहा कि विकास चाहिए तो राजग चाहिए. विकास चाहिए तो पीएम मोदी (PM Narendra Modi) चाहिए. विकास चाहिए तो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) चाहिए और अगर विनाश चाहिए तो राजद चाहिए.अपने भाग्य का फैसला आप खुद करें. एक तरफ विकास करने वाले, विद्या को आगे बढ़ाने, कॉलेज खोलने वाले, सड़क बनाने वाले और कानून व्यवस्था सुधारने वाले लोग हैं. वहीं दूसरी तरफ कानून व्यवस्था तोड़ने वाले और विकास को रोकने वाले लोग हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज