बिहार की जनता के नाम तेजस्वी यादव का खुला पत्र, 'कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करेंगे तो हम फिर जीतेंगे'

बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जनता से अपील करते हुए कहा,

बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जनता से अपील करते हुए कहा, " एक दूसरे का सहयोग करें, नियमों का पालन करें और बचाव के उपायों को अपनाएं.

Bihar Politics: तेजस्वी यादव ने कोरोना संकट पर बिहारवासियों को संबोधित करते हुए लिखा, हर बिहारी के लिए ये कठिन परीक्षा की घड़ी है. हम हमेशा मुसीबतों से लड़कर जीतें है. हमारा हिम्मत, हौसला और सही फ़ैसला ही बेहतर परिणाम लाएगा. हम इस बार भी जीतेंगे.

  • Share this:
पटना. बिहार में जिस तरह से कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है हर कोई डरा हुआ है. हर घर में कोई ना कोई संक्रमित मरीज है ऐसे में जरूरी ये है सभी कोरोना के गाइडलाइंस का पालन करें ताकि इस संक्रमण के बढ़ते चेन को तोड़ा जा सके. बिहार की सरकार और सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बार-बार लोगों से अपील कर रहे हैं कि हर हाल में लोग कोरोना के गाइडलाइंस का पालन करें ताकि इस महामारी से बचा जा सके. मुख्यमंत्री के इस अपील के बाद अब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी बिहार की जनता के नाम एक खुला पत्र लिखकर लोगों से अपील की है कि वो हर हाल में मास्क, रूमाल या गमछा बांधें.

तेजस्वी अपने इस खुले पत्र में जोर देकर लोगों को कहते हैं कि एक-दूसरे से 2 गज की दूरी बनाएं और बेवजह भीड़ ना लगाएं. हर हाल में कोरोना के गाइडलाइंस को सभी पालन करें तभी हम कोरोना को हरा सकते हैं. तेजस्वी यादव ने पत्र में लिखा...

प्रिय बिहारवासियों,

शासकीय विफलताओं द्वारा आमंत्रित कोरोना महामारी की दूसरी लहर इंसानों पर कहर बन कर टूट रही है. बिहार की बदहाल स्वास्थ्य संरचना, स्वास्थ्य सेवा, चिकित्सकों और आपातकालीन जरूरतों व चिकित्सीय सुविधाओं की भारी कमी से आप भली भांति अवगत हैं. सर्वविदित है बिहार के अस्पतालों में दवा, बेड, ऑक्सीजन और इलाज का घोर अभाव है. यही वजह है चारों ओर लाशों के ढ़ेर लगे हैं. कोरोना से हुई मौतों के सही आंकड़ों को भी छिपाया जा रहा है. मेरी आपसे हाथ जोड़कर पुन: विनम्र अपील है कि मानवता पर आए इस ख़तरे का हमने आपसी सहयोग, सक्रियता, साहस, सतर्कता और जागरूकता के साथ सामना करना है. एक दूसरे का सहयोग करें, नियमों का पालन करें और बचाव के उपायों को अपनाएं. संक्रमित होने के बाद उपचार कराने से बेहतर है हम संक्रमित ना होने के उपायों पर ध्यान दें.

1. कोरोना के ख़िलाफ जंग में हम सब भी रक्षक हैं.

2. घबरायें नहीं। लक्षण दिखने और ससमय रिपोर्ट आने पर निरंतर चिकित्सकों से परामर्श लेते रहें.

3. घर में रहना सबसे आसान उपाय है. दुआ और दवा भी यही है. किसी गैरजरूरी कार्य के लिए घर से बाहर ना निकलें.



4. ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष एहतियात बरतें। महामारी के इस संकट काल में शादी-ब्याह, सामूहिक भोज, मुंडन-जनेऊ, सभा इत्यादि सांस्कृतिक, सामाजिक तथा राजनीतिक कार्यक्रम कुछ समय के लिए स्थगित कर दें.

5. हर व्यक्ति एक दूसरे से कम से कम 6 फ़ीट की दूरी रखें.

6. अपने हाथों को बार-बार साबुन या हैंडवाश से धोते रहें.

7. मास्क का प्रयोग अवश्य करें. मास्क ना हो तों गमछे या रूमाल का प्रयोग कर सकते हैं.

8. महिलाएं साफ़ दुपट्टा, चुन्नी, ओढ़नी या रूमाल को मास्क के रूप में प्रयोग कर सकती हैं.

9. बच्चों व बड़े- बुज़र्गों का विशेष ध्यान रखें, उन्हें बचाव के उपाय समझाएं.

10. कोरोना से लड़ना सबकी ज़िम्मेदारी है. सभी ईमानदारी से अपनी अपनी ज़िम्मेदारी निभाएं. प्रण लें कि हर नियम का पालन करेंगे और दूसरों को प्रेरित करेंगे.

तेजस्वी ने आगे लिखा, हर बिहारी के लिए ये कठिन परीक्षा की घड़ी है. हम हमेशा मुसीबतों से लड़कर जीतें है. हमारा हिम्मत, हौसला और सही फ़ैसला ही बेहतर परिणाम लाएगा. हम इस बार भी जीतेंगे.

हमारे द्वारा बरती हर सावधानी, अपनाया हुआ बचाव का हर उपाय तथा नियमों का पालन ही राष्ट्र की सच्ची सेवा होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज