Petrol-Diesel की बढ़ती कीमतों पर तेजस्वी का कटाक्ष, कहा- पहले महंगाई डायन थी, अब भौजाई हो गई
Patna News in Hindi

Petrol-Diesel की बढ़ती कीमतों पर तेजस्वी का कटाक्ष, कहा- पहले महंगाई डायन थी, अब भौजाई हो गई
तेजस्वी यादव (बांयें), और तेज प्रताप यादव. (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा कि लालू यादव ने RJD की स्थापना की. गरीबों, दलितों और पिछड़ों को आवाज दी. आज उन्हें पार्लियामेंट में होना चाहिए था. उनको तोड़ने की साजिश रची गई. लालू एक विचार हैं, वह विचार झुकने का काम नहीं करेगा.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में पेट्रोल-डीजल (petrol-diesel) की कीमत (Price) में वृद्धि का विरोध अब सड़क पर भी आ गया है. राजद (RJD) नेता और पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और तेज प्रताप (Tej Pratap) ने आज पटना में पार्टी समर्थकों (Party Supporter) के साथ साइकिल की सवारी कर पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का विरोध किया. वैसे आज पार्टी का 24वां स्थापना दिवस भी है. बढ़ती कीमतों पर कटाक्ष करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि पहले महंगाई डायन थी, अब भौजाई हो गई है.

पार्टी का 24वां स्थापना दिवस

पार्टी के 24वें स्थापना दिवस पर उन्होंने अपने समर्थकों में जोश भरने का भी काम किया. उन्होंने कहा कि शिवानंद तिवारी, रामचंद्र पूर्वे जैसे नेता हमारे वरिष्ठ हैं और उनका आशीर्वाद हमलोगों के साथ है. फिलहाल रघुवंश प्रसाद जी होम क्वारंटाइन हैं.



लालू एक विचार हैं
उन्होंने कहा कि लालू यादव ने इस पार्टी की स्थापना की. गरीबों, दलितों और पिछड़ों को आवाज दी. आज लालू जी की जरूरत इस देश को है. आज उन्हें पार्लियामेंट में होना चाहिए था. उनको तोड़ने की साजिश रची गई. उनको तोड़ा गया. लालू एक विचार हैं, वह विचार झुकने का काम नहीं करेगा, लड़ाई लड़ेगा. चाहे वह पटना में हो या रांची के कैदखाने में.



हमलोग दिल्ली में झंडा फहरा देंगे

आज हमलोग कसम खा लें कि पार्टी के लिए सिर्फ 5 प्रतिशत ईमानदारी से काम करें, तो कोई RJD को शिखर पर जाने से नहीं रोक सकता. निजी हित को छोड़कर थोड़ा सी कुर्बानी दे देंगे, तब हमलोग दिल्ली में झंडा फहरा देंगे.

15 साल में सरकार ने क्या किया?

2020 में हमारी पार्टी ने लॉकडाउन के दौरान जगह-जगह लोगों को मदद पहुंचाई. राज्य सरकार अपने ही लोगों को आने नहीं देना चाहती थी. बदइंतजामी झेलनी पड़ी. लालू जी ने अपने जन्मदिन पर गरीबों को खाना खिलाने का आदेश दिया. हमलोग आवाज नहीं उठाते तो सरकार प्रवासियों को लाने का इंतजाम नहीं करती. सरकार हमलोगों को कोसती है, जंगलराज-जंगलराज कहती रहती है. 30 वर्ष पुरानी बात करती है. लेकिन ये लोग बताएं कि इन लोगों ने क्या किया अपने 15 साल के शासनकाल में. उस 15 साल में तेजस्वी सरकार में नहीं था, लेकिन फिर भी हम राज्य के लोगों से माफी मांगते हैं. कोई भूल-चूक हुई हो तो जनता ने उसकी सजा भी दी. 15 साल सत्ता से बाहर रखा. हमारे नेता सिद्धान्तों से समझौता नहीं किए, न ही हमने किया. हमारे पास रीढ़ की हड्डी है, इसलिए हम झुकते नहीं हैं, वे लोग बिना रीढ़ के हैं, इसलिए झुक जाते हैं. आपलोगों ने जिम्मेवारी दी, उसको हम निभाएंगे. कुछ लोग नाराज है संगठन में बदलाव को लेकर, हम बस एक बात कहते हैं. बस इस बार सारे शिकवे-गिले भुलाकर, एकजुट होकर मेहनत करें. चुनाव में जीत का सहरा हमीं लोगों के सिर बंधेगा. हम आज के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आप सभी को धन्यवाद देते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading