Home /News /bihar /

23 फरवरी से गरीबी हटाओ यात्रा...तो क्या बजट सत्र से गायब रहेंगे तेजस्वी यादव

23 फरवरी से गरीबी हटाओ यात्रा...तो क्या बजट सत्र से गायब रहेंगे तेजस्वी यादव

पिछले साल विधान मंडल के मानसून सत्र में जब तेजस्वी गैरमौजूद रहे तो उन पर काफी हमले हुए. उसी समय बिहार में चमकी बुखार से सैकड़ों बच्चों की मौत हो गई थी और विपक्ष के सामने सरकार पर हमला बोलने का बड़ा मौका था. (फाइल फोटो)

पिछले साल विधान मंडल के मानसून सत्र में जब तेजस्वी गैरमौजूद रहे तो उन पर काफी हमले हुए. उसी समय बिहार में चमकी बुखार से सैकड़ों बच्चों की मौत हो गई थी और विपक्ष के सामने सरकार पर हमला बोलने का बड़ा मौका था. (फाइल फोटो)

बिहार विधान मंडल का बजट सत्र 26 फरवरी से शुरु हो रहा है. वहीं 23 फरवरी से तेजस्वी यादव गरीबी हटाओ यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं. ऐसे में सत्ता पक्ष कह रहा है कि तेजस्वी को जनता के सरोकार से कोई लेना देना नहीं है इसलिए बजट सत्र होने के बावजुद वो अपनी चुनावी यात्रा शुरु कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...
पटना. बिहार विधान मंडल का बजट सत्र 26 फरवरी से शुरु हो रहा है. बिहार में इसी साल विधान सभा का चुनाव होना है इस लिहाज से ये बजट नीतीश कुमार के इस टेन्योर का आखिरी बजट भी है. इस सत्र पर सबकी निगाहे होंगी. लेकिन बड़ा सवाल है कि क्या नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इस सत्र से भी गायब रहेंगे. सवाल इस लिए उठ रहा है क्योंकि 23 फरवरी से तेजस्वी यादव गरीबी हटाओ यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं. ऐसे में विपक्ष कह रहा है कि तेजस्वी को जनता के सरोकार से कोई लेना देना नहीं है इसलिए बजट सत्र होने के बावजुद वो अपनी चुनावी यात्रा शुरु कर रहे हैं.

राजद नेता यात्रा पर दे रहे हैं सफाई
इस यात्रा के दौरान तेजस्वी बिहार के हर जिले में जाएंगे और लोगों से संवाद करेंगे. ऐसे में बजट सत्र में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी फिर खाली रहेगी. हालांकि अभी तक उनका ये कार्यक्रम तय नहीं हुआ है कि किस तारीख को वे कहा रहेंगे लेकिन इस पर उनकी पार्टी के नेताओं की सफाई आने लगी है. राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी का कहना है कि अभी यात्रा की तारीख तय नहीं हुई है. बजट सत्र के हिसाब से तारीख तय की जाएगी. कोशिश होगी की शनिवार और रविवार के दिन जब सदन नहीं चलता है उस दिन उनकी यात्रा रखी जाए.

पहले भी तेजस्वी सदन से रहे हैं गायब
इससे पहले भी बिहार विधान मंडल के कई ऐसे सत्र रहे हैं जिसमें तेजस्वी गायब रहे हैं. खास कर पिछले साल विधान मंडल के मानसून सत्र में जब वे गैरमौजूद रहे तो उन पर काफी हमले हुए. उसी समय बिहार में चमकी बुखार से सैकड़ों बच्चों की मौत हो गई थी और विपक्ष के सामने सरकार पर हमला बोलने का बड़ा मौका था. कई नेता तो तेजस्वी की तुलना राहुल गांधी से भी करने लगे थे कि संसद से जैसे राहुल गायब रहते हैं वही हाल बिहार में तेजस्वी का भी है. अब जब उनकी यात्रा की तारीख को लेकर कुछ ऐसा हीं संयोग बन रहा है तो सत्ताधारी दल तेजस्वी पर हमला बोल रहे हैं. बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद का कहना है कि तेजस्वी शुरु से ही गैरजिम्मेदार रहे हैं, उनको जनता से कोई लेना देना नहीं है.

नीतीश सरकार के इस टेन्योर का आखिरी बजट सत्र
ये बजट सत्र नीतीश सरकार के इस टेन्योर का आखिरी बजट सत्र है ऐसे में इस सत्र के द्वारा सरकार कई ऐसी घोषणाएं कर सकती है जो चुनावी होंगी. ऐसे मौके अगर अपनी यात्रा को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सदन से दूर रहेंगे तो इसका सीधा लाभ सत्तापक्ष उठाएगा और उनके पास इसी बहाने विपक्ष की गंभीरता पर सवाल उठाने का मौका भी मिल जाएगा. ऐसे में अब ये देखना दिलचस्प होगा कि तेजस्वी बजट सत्र और अपनी यात्रा दोनो में कैसे सामंजस्य बिठाते हैं.

Tags: Bihar News, Bihar rjd, BJP, Budget 2020, PATNA NEWS, Tejasvi yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर