लाइव टीवी

बागियों के खिलाफ तेजस्वी के सख्त सुर तेज प्रताप के लिए अल्टीमेटम तो नहीं!
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: April 16, 2019, 2:33 PM IST
बागियों के खिलाफ तेजस्वी के सख्त सुर तेज प्रताप के लिए अल्टीमेटम तो नहीं!
file photo

तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय जनता दल के भीतर बागियों को बर्दाश्त न करने का अल्टीमेटम दे दिया है.

  • Share this:
तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय जनता दल के भीतर बागियों को न बर्दाश्त करने का अल्टीमेटम दे दिया है. तेजस्वी ने साफ कर दिया है कि पार्टी में विरोधियों के लिए कोई जगह नहीं है. हालांकि, तेजस्वी का इशारा मधुबनी सीट के लिए बागी बने कद्दावर नेता अशरफ फातमी के लिए था, लेकिन माना जा रहा है कि इसमें बड़े भाई तेज प्रताप यादव के लिए भी संदेश छिपा हुआ है.

मंगलवार (16 अप्रैल) को पटना से चुनाव प्रचार के लिए रवाना होने से पहले तेजस्वी ने पत्रकारों से कई मुद्दों पर बात की. फ्रेंडली फाइट के सवाल पर तेजस्वी यादव के तेवर काफी सख्त दिखे. उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि कहीं कोई फ्रेंडली फाइट नहीं है.

फ्रेंडली फाइट के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को फैसला लेने का अधिकार है और चुनाव लड़ने का भी अधिकार है. हम इस व्यवस्था में किसी को बांधकर नहीं रख सकते लेकिन मैं एक बात कह देना चाहूंगा कि पार्टी के खिलाफ कोई भी लड़ेगा तो उस पर कड़ी कार्रवाई होगी. पार्टी के खिलाफ जाने वालों को 6 साल तक न तो पार्टी में जगह मिलेगी और न ही कोई पद.

वहीं, जब तेजप्रताप पर सवाल किया गया तो तेजस्वी ने बात उनके जन्मदिन की तरफ घुमा दी और कहा कि हमने उन्हें बधाई दी है और शाम को जाकर उनसे मुलाकात भी करेंगे. गौरतलब है कि तेज प्रताप यादव के विरोध की वजह से आरजेडी को इस समय मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि, तेज प्रताप लगातार इस बात को दोहराते रहे हैं कि उनके मतभेद परिवार के सदस्यों से नहीं हैं, लेकिन उनके निशाने पर तेजस्वी के कुछ करीबी रहते हैं. तेज प्रताप ने कभी इन करीबियों का नाम सार्वजनिक रूप से नहीं लिया है.



अभी हाल में सारण सीट से अपने ससुर चंद्रिका राय को पार्टी टिकट दिए जाने का तेज प्रताप यादव ने खुलकर विरोध किया. यहां तक कि उन्होंने यह भी ऐलान किया था कि अगर उनकी मां यहां से चुनाव नहीं लड़तीं तो वो खुद ही निर्दलीय मैदान में उतर जाएंगे.

तेज प्रताप यादव द्वारा अपनाए गए बागी सुरों के बीच तेजस्वी ने हमेशा मौन बनाए रखा है लेकिन अब मधुबनी सीट पर अशरफ फातमी को निशाने पर लेकर उन्होंने कई तरफ संदेश देने की कोशिश की है.

जायज-नाजायज देखना चुनाव आयोग का काम

तेजस्वी ने चुनाव आयोग द्वारा मायावती और योगी आदित्यनाथ पर की गई कार्रवाई के सवाल पर कहा कि इलेक्शन कमीशन सारी चीजें देख रहा है. जायज और नाजायज देखना चुनाव आयोग का काम है न कि मेरा और आपका. उन्होंने कहा कि क्या नियम के साथ है और नहीं ये भी चुनाव आयोग का काम है.

यह भी पढ़ें: तेजस्वी यादव का अल्टीमेटम- बगावत की तो 6 साल तक न तो पार्टी में एंट्री मिलेगी और न ही पोस्ट

यह भी पढ़ें: 30 साल के हुए तेजप्रताप यादव, बर्थ डे विश कर चुनाव प्रचार के लिए रवाना हुए तेजस्वी

यह भी पढ़ें: अली अशरफ फातमी ने दिया राजद के विभिन्न पदों से इस्तीफा, मधुबनी से लड़ेंगे चुनाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 16, 2019, 1:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर