लाइव टीवी

तेजस्वी यादव ने फिर खेला इमोशनल कार्ड, बोले- लालू जी के साथ हो रहा अमानवीय व्यवहार
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: April 22, 2019, 11:23 AM IST
तेजस्वी यादव ने फिर खेला इमोशनल कार्ड, बोले- लालू जी के साथ हो रहा अमानवीय व्यवहार
प्रेस वार्ता करते तेजस्वी और अन्य

तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश जी ने शराबबंदी नशामुक्ति के लिए नहीं कराया गया है बल्कि अपनी जेब भरने के लिए किया है.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के ठीक पहले बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से इमोशनल कार्ड खेला है. तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला बोला साथ ही लालू के प्रति संवेदना भी जारी की. सोमवार को पटना में तेजस्वी ने महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं के साथ साझा प्रेस वार्ता की और नीतीश कुमार समेत उनकी सरकार पर कई संगीन आरोप लगाए.

तेजस्वी ने कहा कि मैं अपने पिता लालू यादव से मिलने मैं रांची गया था. रिम्स के डॉक्टर कहते हैं कि लालू यादव की तबियत खराब है लेकिन उनको टेस्ट कराने के लिए हॉस्पिटल के दूसरे भवन में नहीं जाने दिया जा रहा है. लालू जी के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लालू यादव से मिलने के लिए रोक लगा दिया गया है. हॉस्पिटल के बाहर नोटिस लगा दिया गया है. पीएम मोदी, सीएम नीतीश और सुशील मोदी के इशारे पर रिम्स में नोटिस लगाया गया है.

जेडीयू पर निशाना साधते हुए तेजस्वी ने कहा कि जेडीयू देश की पहली पार्टी है जिसने तीसरे चरण के चुनाव होने तक अपना मेनिफेस्टो जारी नहीं किया है. हम इसका कारण जानना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें- पटना पहुंचे शत्रुघ्न का भारी विरोध, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बताया खोटा सिक्का



नीतीश जी कहते थे कि क्राइम, करप्शन से समझौता नहीं करेंगे लेकिन अभी ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा.
नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि हमारे चाचा जब बीजेपी से हटे तो उन्होंने लोगों से हस्ताक्षर कराया और वो भी एक करोड़ से ज्यादा लोगों का. अब तो बिहार में डबल इंजन की सरकार लेकिन स्पेशल स्टेटस को लेकर वो खामोश क्यों हैं.

ये भी पढ़ें- कन्हैया कुमार के लिए वोट मांगने बेगूसराय आएंगे मशहूर गीतकार जावेद अख्तर

लालू के छोटे बेटे ने कहा कि बिहार के लोगों को यहां की सरकार लगातार ठग रही है. वो अपनी मांगों को पीएम के समक्ष क्यों नहीं रख रहे. नीतीश जी ने शराबबंदी नशामुक्ति के लिए नहीं कराया गया है बल्कि अपनी जेब भरने के लिए किया है. आज बिहार में शराब की होम डिलीवरी हो रही है. 1500 रुपए की शराब में 1300 रुपए सरकार के पास जा रहा है और दिखावे के लिए कि कार्रवाई हुई है केवल दलितों पर केस हो रहा है.

ये भी पढ़ें- काला झंडा दिखाने पर कन्हैया के समर्थकों ने लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

तेजस्वी ने कहा कि अपना पॉकेट भरने के लिए नीतीश कुमार ने शराबबंदी की लेकिन उसमें भी इंजीनियरिंग वाला दिमाग लगाया. हमारे चाचा आज जनता से मजदूरी मांग रहे हैं लेकिन वो किस बात की मजदूरी मांग रहे हैं ये सभी को पता है. प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि कोई ऐसा सगा नहीं है जिसे नीतीश कुमार ने ठगा नहीं है. वो अपने साथ के नेताओं को ठगने के साथ ही अब बिहार की जनता को भी ठग रहे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 22, 2019, 11:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर