दारोगा हत्याकांड को लेकर हमलावर हुए तेजस्वी, आरोपियों के साथ ट्वीट की सीएम नीतीश की तस्वीरें

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: August 27, 2019, 4:26 PM IST
दारोगा हत्याकांड को लेकर हमलावर हुए तेजस्वी, आरोपियों के साथ ट्वीट की सीएम नीतीश की तस्वीरें
तेजस्वी ने जो तस्वीरें ट्वीट की हैं उनमें सीएम छपरा में हुए हत्याकांड के आरोपियों के साथ दिख रहे हैं (फाइल फोटो)

बिहार के छपरा में 20 अगस्त की रात को दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी. घटना छपरा के मढ़ौरा में हुई थी जब पुलिस टीम को देखते ही अपराधियों में अंधाधुंध फायरिंग की थी.

  • Share this:
बिहार में नेता प्रतिपक्ष (Leader of opposition) तेजस्वी यादव (Tejasvi Yadav) ने छपरा में हुए दारोगा और सिपाही की हत्या (SI Murder Case) के मामले में सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को घेरा है. हत्याकांड के आठ दिन बाद तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर जबर्दस्त हमला बोलते हुए उन तस्वीरों को वायरल किया जिसमें नीतीश कुमार इस हत्याकांड की आरोपी जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरूण और उनके पति अरूण सिंह के साथ हैं.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है

मुख्यमंत्री शराब माफ़िया को अपने आवास बुलाकर मिलते है।इन्स्पेक्टर और पुलिसकर्मियों के कुख्यात हत्यारों को आवास बुलाकर मिलते है।34 मासूम लड़कियों के साथ जनबलात्कार करने वाले के बेटे के जन्मदिवस पर मुख्यमंत्री उसके घर जश्न मनाने जाते है। नैतिकता का तक़ाज़ा जो है।

 छपरा में हुई घटना को लेकर राजद के भी ट्विटर हैंडल से से एक ट्वीट पोस्ट किया गया है जिसमें लिखा है छपरा में दिनदहाड़े SIT के इंस्पेक्टर की सुनियोजित हत्या करने वालों का CM नीतीश से सीधा संबंध है। मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर अरुण सिंह व मीना अरुण के CM से घनिष्ठ सम्बन्धों के चलते पुलिस कार्रवाई से बच रही है।ऐसे अपराधियों को नीतीश जी ‘मुख्यमंत्री आवास’ में स्पेशली बुलवाकर मिलते है.

 मीना अरूण और अरूण सिंह के साथ हैं सीएम नीतीश

तेजस्वी यादव ने जिन तस्वीरों को साझा किया है वो किसी न किसी कार्यक्रम की हैं. इन चारों तस्वीरों में नीतीश कुमार को आरोपी जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरूण और उनके पति अरूण सिंह के साथ दिखाया गया है. मीना अरूण छपरा की जिला परिषद अध्यक्ष हैं और फिलहाल जेल में बंद हैं. किसी तस्वीर में वो नीतीश कुमार को बुके देते तो किसी में उनका अभिवादन करते दिख रहे हैं.

20 अगस्त को हुई थी हत्या

बिहार के छपरा में 20 अगस्त की रात को दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी. घटना छपरा के मढ़ौरा में हुई थी जब पुलिस टीम को देखते ही अपराधियों में अंधाधुंध फायरिंग की थी. इस हमले में एसआईटी के दारोगा मिथलेश सिंह के साथ ही सिपाही फारूक अहमद की मौत हो गई थी वहीं संजीव कुमार को गोली लगी थी. इस हमले के दौरान  अपराधियों ने AK-47 के साथ साथ दारोगा की पिस्तौल भी लूट ली थी.

जिला परिषद अध्यक्ष हुई हैं गिरफ्तार

पुलिस ने इस दोहरे हत्याकांड में सात लोगों को नामजद किया है जिसमें से जिप अध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के मुताबिक इस घटना में जिस पिस्तौल का इस्तेमाल किया गया था उसका लाइसेंस जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरूण के नाम पर है. पुलिस को इस केस में अन्य आरोपियों की तलाश है.

ये भी पढ़ें- BJP सांसद बोले- वापस हो प्रियंका और रॉबर्ड की SPG सुरक्षा

ये भी पढ़ें- छपरा पुलिस ने सुलझाई SI मिथिलेश कुमार हत्याकांड की गुत्थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 4:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...