Bihar Chunav: तेजस्‍वी ने खुद को CM कैंडिडेट बताते हुए नीतीश को दी खुली चुनौती- किसी एक उपलब्धि पर कर लें बहस

बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के मतदान से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को खुली बहस की चुनौती दी.
बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के मतदान से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को खुली बहस की चुनौती दी.

Bihar Assembly Election: आरजेडी के CM कैंडिडेट तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने एनडीए के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को बिहार चुनाव के प्रथम चरण के मतदान से पहले खुली बहस की चुनौती दी. 15 साल सुशासन के दावों को लेकर तेजस्वी ने किया चैलेंज.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 11:05 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) का सियासी माहौल पूरे शबाब पर है. खासकर जेडीयू नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और प्रमुख विपक्षी दल आरजेडी के CM कैंडिडेट तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के बीच एक-दूसरे के खिलाफ बयानबाजी चरम पर पहुंचती दिख रही है. इसी क्रम में आज तेजस्वी यादव ने खुद को  बतौर मुख्यमंत्री उम्मीदवार पेश करते हुए नीतीश कुमार को चुनाव से पहले बहस की खुली चुनौती दी है. तेजस्वी यादव ने कहा कि लोगों में नीतीश कुमार को लेकर भारी गुस्सा है. बड़ी संख्या में लोग आगे आकर अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. ऐसे में नीतीश कुमार को हम खुली चुनौती देते हैं, वो जब जहां चाहें मुझसे किसी भी मुद्दे पर डिबेट कर लें. पिछले 15 साल के शासन की किसी भी एक उपलब्धि पर वो डिबेट कर लें. एक नई परंपरा की शुरुआत होनी चाहिए. तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर नीतीश कुमार मेरे साथ बहस कर लें.

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को बहस की खुली चुनौती देने के साथ-साथ अन्य मुद्दों पर भी खुलकर अपनी राय रखी. एनडीए से लोजपा के अलग होने को लेकर गर्माए सियासी माहौल को लेकर भी तेजस्वी ने नीतीश पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘चिराग पासवान के साथ नीतीश कुमार ने अच्छा नहीं किया. आज चिराग पासवान जी को बेहद ज़रूरत थी इस समय उनके पिता की. हम लोगों को बहुत दुख है कि आज रामविलास पासवान जी हम लोगों के साथ नहीं हैं. ‘ तेजस्वी ने एनडीए के प्रमुख घटक दल बीजेपी के नेता सुशील मोदी को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा, ‘सुशील मोदी का काम झूठ पर झूठ बोलना है. उन्हें यह बताना चाहिए कि बिहार खुद की बिजली का उत्पादन नहीं करता, राज्य के लोगों को बिजली खरीदकर आपूर्ति की जाती है. हमारी सरकार आएगी तो हम बिहार में बिजली का उत्पादन करेंगे, ताकि बिजली दर कम हो.’

ये भी पढ़ें- VIDEO: वोट मांगने आये नीतीश के मंत्री को लोगों ने खदेड़ा, पूछा- गांव में कैसे घुस गए?



लालू यादव को लेकर राबड़ी देवी के बयान पर तेजस्वी ने कहा कि इसमें कुछ भी छुपा नहीं है. यह सबको पता है कि लालू जी पार्टी के सर्वेसर्वा हैं. आरजेडी के स्टार प्रचारक ने लालू यादव के ट्वीट पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के बयान पर भी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि बीजेपी को पहले इस बात का जवाब देना चाहिए कि इनकी सरकार के कार्यकाल में 60 घोटाले हुए हैं, उसका पैसा बिहार को कौन वापस कराएगा. सृजन, बियाडा जैसे कई घोटाले हुए हैं, उनका पैसा कौन लौटाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज