Home /News /bihar /

शेल्टर होम केस: तेजस्वी का तंज, 'नीतीश जी की अंतरात्मा बंगाल की खाड़ी में समाहित हो गई'

शेल्टर होम केस: तेजस्वी का तंज, 'नीतीश जी की अंतरात्मा बंगाल की खाड़ी में समाहित हो गई'

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

तेजस्वी ने ट्वीट किया, मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार. नीतीश जी की अंतरात्मा गंगा में डूब बंगाल की खाड़ी में समाहित हो गयी है. इतनी कड़ी टिप्पणी के बाद भी CM चुप्पी साधे हुए है.

    शेल्टर होम केस में सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणी और सभी केस की सुनवाई दिल्ली के साकेत कोर्ट में किए जाने के आदेश पर विरोधी दलों ने नीतीश सरकार पर हमला बोला है. नेता प्रतिपक्ष और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि नीतीश जी की अंतरात्मा गंगा में डूब गई है और बंगाल की खाड़ी में समाहित हो गई है.

    उन्होंने ट्वीट किया, मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार. नीतीश जी की अंतरात्मा गंगा में डूब बंगाल की खाड़ी में समाहित हो गयी है. इतनी कड़ी टिप्पणी के बाद भी CM चुप्पी साधे हुए है.  नीतीश जी बलात्कारियों के असल संरक्षक है. मधुबनी शेल्टर होम भी इनके खास का है.

     



    आपको बता दें कि आज ही बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर से नीतीश सरकार को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि आप बच्चों के साथ इस तरह का बर्ताव करते हैं. आप इस तरीके की चीजों की इजाजत नहीं दे सकते. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को बिहार की सीबीआई अदालत से दिल्ली के साकेत कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया है.

    सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए  चीफ जस्टिस ने कहा कि दिल्ली से पटना दो घंटे का रास्ता है. हम चीफ सेक्रेट्री को भी यहां खड़ा कर सकते हैं.

    ये भी पढ़ें-  नीतीश सरकार, CBI को SC का झटकाः अब दिल्ली में होगी मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस की सुनवाई

     

    Tags: Bihar News, Muzaffarpur Shelter Home Rape Case, Nitish kumar, PATNA NEWS, Supreme Court, Tejaswi yadav

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर