तेजस्वी 'लापता' प्रकरण: RJD और महागठबंधन ने सिर्फ खोया ही खोया!
Patna News in Hindi

तेजस्वी 'लापता' प्रकरण: RJD और महागठबंधन ने सिर्फ खोया ही खोया!
तेजस्वी यादव की अनुपस्थिति से महागठबंधन की राजनीति को नुकसान

लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद जिस तरह से तेजस्वी यादव लापता हो गए इसका बिहार में विपक्ष की राजनीति पर गहरा असर देखने को मिल रहा है. चमकी बुखार, लॉ एंड ऑर्डर जैसे तमाम मुद्दों के रहते हुए भी मानसून सत्र के दौरान विपक्ष की बजाय सत्ता पक्ष ही हावी दिख रहा है.

  • Share this:
बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव रहस्यमयी तरीके से एक महीने तक लापता रहे. सोमवार को जब वे वापस आए तो सिर्फ उन्होंने इतना भर कहा कि सदन में सरकार को घेरेंगे. हालांकि विधानमंडल की कार्यवाही के दौरान पूरे विपक्ष के साथ सत्ता पक्ष भी उनके आने का इंतजार करता रहा, लेकिन वे नहीं पहुंचे. जाहिर है इसको लेकर भी सवाल खड़े होने लगे हैं कि पटना में रहने के बाद भी उन्होंने कार्यवाही में हिस्सा क्यों नहीं लिया? बहरहाल इन सवालों के बीच सवाल यह भी कि एक महीने तक बिहार की राजनीति से गायब रहने के कारण आरजेडी और महागठबंधन को कितना नुकसान पहुंचा?

लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद जिस तरह से तेजस्वी यादव लापता हो गए. इसका बिहार में विपक्ष की राजनीति पर गहरा असर देखने को मिल रहा है. चमकी बुखार, लॉ एंड ऑर्डर जैसे तमाम मुद्दों के रहते हुए भी मानसून सत्र के दौरान विपक्ष की बजाय सत्ता पक्ष ही हावी दिख रहा है. वहीं महागठबंधन में भी बिखराव के संकेत सामने आने लगे हैं. आइये हम बिंदुवार नजर डालते हैं कि क्या-क्या नुकसान हुआ.

आरजेडी में उठे विरोध के स्वर
तेजस्वी यादव की लगातार गुमशुदगी के बीच आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने खीझ जताई और कहा कि शायद वे वर्ल्ड कप देख रहे हैं. इसी तरह लालू यादव के करीबी विधायक भाई वीरेंद्र ने भी कह दिया कि किसी के रहने या न रहने से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा.
महागठबंधन की एकजुटता हुई ध्वस्त


महागठबंधन दलों के बीच एकता बनाना कठिन हो गया है. उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अपना-अलग कार्यक्रम कर रही है. कुशवाहा 2 जुलाई से 6 जुलाई तक पदयात्रा पर रहेंगे. मांझी की पार्टी HAM ने भी चमकी बुखार के मसले पर अलग धरना दिया, इसी तरह कांग्रेस का भी अलग रुख है.

मांझी ने कहा- तेजस्वी को अनुभवहीन
तेजस्वी के गायब रहने पर हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि तेजस्वी में लालू यादव वाली बात नहीं है, वह अनुभवहीन हैंं. मांझी ने यह भी कहा कि वह नेतृत्व के लायक नहीं हैं और उन्हें अभी बहुत कुछ सीखना बाकी है.

कांग्रेस ने पकड़ी अलग राह
कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि विधानमंडल की कार्यवाही में वह अपने एजेंडे पर चलेगी और आरजेडी से समर्थन की अपेक्षा रखेगी. यह बात सोमवार को विधान सभा और विधान परिषद की कार्यवाही में जाहिर भी हुई. कांग्रेस ने आरजेडी से अलग कार्य स्थगन प्रस्ताव दिया और इसपर चर्चा भी हुई.

आरजेडी के कई विधायकों के जेडीयू में जाने की चर्चा
बिहार के राजनीतिक गलियारों में ये चर्चा आम है कि आरजेडी के कई विधायक जेडीयू नेतृत्व के संपर्क में हैं और जल्दी ही वे पाला बदल सकते हैं. न्यूज 18 से भी कई विधायकों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्तों पर इस बात की हामी भरी है. जाहिर आरजेडी अपने सबसे मुश्किल दौर से गुजर रही है.

ये भी पढ़ें-


पापा अब मैं सौम्या नहीं, समीर हूं... पिता कर रहे यज्ञोपवीत की तैयारी, शादी के लिए आ रहे रिश्ते




CM नीतीश कुमार बोले- चमकी बुखार से होने वाले मौतों में आई कमी, विधानसभा में हंगामा

जब मंगल पांडे के बचाव में खड़े हो गए CM नीतीश कुमार, विपक्ष का वॉक आउट

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading