लाइव टीवी

तेजप्रताप ने जगदानंद सिंह, तेजस्वी और रामचंद्र पूर्वे के बारे में कही बड़ी बात, बयां किया अपना दर्द

News18 Bihar
Updated: November 26, 2019, 1:58 PM IST
तेजप्रताप ने जगदानंद सिंह, तेजस्वी और रामचंद्र पूर्वे के बारे में कही बड़ी बात, बयां किया अपना दर्द
तेजप्रताप ने प्रदेश में नए अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर अपनी बात मीडिया के सामने रखी. (File Photo)

तेजप्रताप यादव ने सक्रिय राजनीति से अपनी दूरी के बारे में अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि दरअसल हम कोर्ट और केस के चक्करों में ऐसे फंसे हैं जिससे मेरे राजनीतिक जीवन पर असर पड़ा है.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janta Dal) के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh) बिहार प्रदेश RJD की कमान संभालेंगे. वे रामचंद्र पूर्वे (Ramchandra Purvey) की जगह लेने जा रहे हैं. पांच बार लगातार आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष (RJD State President) पद रहे पूर्वे को हटाए जाने के पीछे कई कारण बताए जा रहे हैं. इनमें से एक बड़ा आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े पुत्र तेजप्रताप की पूर्वे से नाराजगी बताई जा रही है. वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता को कमान सौंपे जाने को तेजप्रताप यादव (Tejpratap Yadav) और लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) के बीच तनाव को कम करने के प्रयास के रूप में भी देखा जा रहा है. हालांकि अब इस मुद्दे को लेकर तेजप्रताप यादव ने बड़ा बयान दिया है.

लंबे अर्से बाद आरजेडी दफ्तर पहुंचे तेजप्रताप यादव ने न्यूज 18 से बात करते हुए कहा रामचंद्र पूर्वे जी हमारे अंकल हैं, उनसे मेरा कोई मतभेद नहीं. चाचा-भतीजा में भला कोई तल्खी होती है? इसका मतलब ये भी नहीं कि रामचन्द्र पूर्वे जी ने पार्टी के लिए कोई काम नहीं किया है, उन्होंने भी पार्टी को अच्छे तरह से संभाला है.

तेजप्रताप यादव
तेजप्रताप यादव को रामचंद्र पूर्वे का सबसे प्रबल विरोधी माना जाता रहा है. (फाइल फोटो)


तेजप्रताप यादव ने जगदानंद सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर कहा, पार्टी में अगर कोई बदलाव हुआ है तो जाहिर है पार्टी को इससे फायदा ही पहुंचेगा. वे हमारे अभिभावक भी है साथ में एक मजबूत और जुझारू नेता भी हैं. साथ में वो हमारे पितातुल्य भी हैं. उनके नेतृत्व में पार्टी यकीनन और उचाईयों पर जाएगी.

उन्होंने यह भी कहा कि 2020 में तेजस्वी को हस्तिनापुर की गद्दी पर बिठाना है इसके लिए जगदानंद सिंह जरूरी हैं. तेजस्वी और हमारे बीच कोई सत्ता संघर्ष नहीं है. जो लोग ये कहते हैं कि हम तेजस्वी से राजनीति में पिछड़ गए हैं, वो गलत बात बोलते हैं.

तेजप्रताप यादव ने सक्रिय राजनीति से अपनी दूरी के बारे में अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि दरअसल हम कोर्ट और केस के चक्करों में ऐसे फंसे हैं जिससे मेरे राजनीतिक जीवन पर असर पड़ा है, लेकिन 2020 से पहले हम लड़ाई के लिए तैयार हो जाएंगे.

तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच कथित मनमुटाव की खबरें अक्सर मीडिया की सुर्खियां रही हैं. (फाइल फोटो)

Loading...

गौरतलब है कि जगदानंद सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने का औपचारिक ऐलान 27 नवंबर को होगा. बताया जा रहा है कि ये फैसला लालू यादव ने खुद लिया है. दरअसल इसके पीछे वजह है कि वे हमेशा विवादों से दूर रहे हैं और पार्टी के भीतर सभी गुटों द्वारा सम्मानित हैं. इतना ही नहीं लालू प्रसाद द्वारा पार्टी की स्थापना के बाद से वे उनके साथ हैं.

इनपुट- अमित कुमार सिंह

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 1:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...