लॉकडाउन के बीच लालू की रसोई में गरीबों के लिए लिट्टी-चोखा बना रहे तेजप्रताप, देखें Video
Patna News in Hindi

लॉकडाउन के बीच लालू की रसोई में गरीबों के लिए लिट्टी-चोखा बना रहे तेजप्रताप, देखें Video
तेजप्रताप यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर आरजेडी नेताओं के लिए सुरक्षा की मांग की है. (फाइल फोटो)

लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे गरीबों और मजदूरों की मदद के लिए लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े लाल तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) आगे आए हैं. उन्होंने ‘लालू की रसोई’ में लिट्टी-चोखा बनाकर गरीबों और मजदूरों का पेट भरने की कोशिश कर रहे हैं.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे गरीबों और मजदूरों की मदद के लिए लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े लाल तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) आगे आए हैं. उन्होंने ‘लालू की रसोई’ (Lalu Kitchen) में  लिट्टी-चोखा बनाकर गरीबों और मजदूरों का पेट भरने की कोशिश कर रहे हैं. तेजप्रताप ने बीते 6 मई को ऐलान किया था कि लॉकडाउन के बाद अपने पिता के नाम पर वो 'लालू की रसोई' रेस्टोरेंट की मेगा लॉन्चिंग करेंगे. इसमें गरीबों को एक शाम का खाना मुफ्त में खिलाया जाएगा, लेकिन बाकियों को खाने के लिए पेमेंट करना होगा. तेजप्रताप का कहना है कि 'लालू की रसोई' में पिछले महीनेभर से गरीबों और जरूरतमंदों के लिए खाना पक रहा है. हर रोज वे खुद गरीबों में यह खाना बांटते हैं.



प्रयोग करते रहते हैं तेज प्रताप
तेजप्रताप यादव प्रयोग करते रहते हैं. राजनीतिक टिप्पणीकार तो यहां तक कहते रहे हैं कि तेजप्रताप खुद को सुर्खियों में बनाए रखने के लिए ये सब करते हैं.  तेजप्रताप राजनीति में अपनी जड़े नहीं जमा पाए हैं. उनका राजनीतिक भविष्य अभी तक ठीक से संवर नहीं पाया है.



बिहार में एक साथ लॉन्च हुए थे दोनों भाई
लालू यादव ने दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी को एक साथ राजनीति में लॉन्च किया था. तेजस्वी यादव लालू के उत्तराधिकारी बन गए, जबकि तेजप्रताप अभी तक अपनी जमीन ही मजबूत नहीं कर पाए हैं. 'लालू की रसोई' की मेगा लॉन्चिंग की घोषणा पर बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनन्द ने चुटकी लेते हुए कहा था कि 'लालू की रसोई' में तेजप्रताप अपने छोटे भाई तेजस्वी को भी पार्टनर बना लें, क्योंकि आसन्न विधानसभा चुनाव में तेजस्वी हार जाएंगे और खाली बैठेंगे.

सुर्खियों में बने रहने का दूसरा नाम है तेजप्रताप
तेजप्रताप यादव अकसर अपने बयानों या ऊटपटांग हरकतों या अपनी वेशभूषा को लेकर सुर्खियों में बने रहते हैं. यह कहा जा सकता है कि तेजस्वी से राजनीति में पिछड़ने के बाद तेजप्रताप ने अपना दूसरा ठिकाना ढूंढ लिया है. तेजप्रताप के करीबियों का कहना है कि वे बयान बहादुर हैं. वे केवल बयान भी खूब सुर्खियां बटोरते हैं.

ये भी पढ़ें - 

COVID-19 UP: अब तक 82 मौतें, इलाज करा रहे से अधिक हुए स्वस्थ; कुल केस 3664

Bois Locker Room: चैट करने वाली नाबालिग छात्रा समेत 22 के मोबाइल की होगी जांच
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading