जीतन राम मांझी से मिलने पहुंचे तेजप्रताप यादव, बोले- पड़ोसी होने के नाते चाचा के घर चाय पीने आये थे

तेजप्रताप ने कहा गठबंधन में सभी की अहमियत है और हमारे बीच किसी तरह का कोई मतभेद नहीं है. पूरा महागठबंधन एक है. हमारा उद्देश्य भाजपा को हराने का है.

News18 Bihar
Updated: February 12, 2019, 9:12 AM IST
जीतन राम मांझी से मिलने पहुंचे तेजप्रताप यादव, बोले- पड़ोसी होने के नाते चाचा के घर चाय पीने आये थे
मांझी से मुलाकात के बाद तेजप्रताप यादव
News18 Bihar
Updated: February 12, 2019, 9:12 AM IST
लालू यादव के बड़े बेटे और आरजेडी विधायक तेजप्रताप यादव सोमवार की शाम अचानक पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी से मिलने उनके आवास पहुंच गए. मांझी के आवास पर तेजप्रताप करीब 1 घंटे तक रहे. मुलाकात के बाद जब तेजप्रताप-मांझी मीडिया के सामने मुखातिब हुए तो तेजप्रताप ने इसे सामान्य मुलाकात बताया.

तेजप्रताप यादव ने कहा कि बगल में घर होने के कारण वो चाचा के साथ केवल चाय पीने चले आए थे. तेजप्रताप ने कहा गठबंधन में सभी की अहमियत है और हमारे बीच किसी तरह का कोई मतभेद नहीं है. पूरा महागठबंधन एक है. हमारा उद्देश्य भाजपा को हराने का है. तेजप्रताप ने कहा कि भतीजा को देख कर चाचा खुश हुए हैं और कोई नाराज नहीं है.

ये भी पढ़ें- शेल्टर होम केस: CBI के पूर्व अंतरिम निदेशक ने सुप्रीम कोर्ट से मांगी बिना शर्त माफी



हम कोई दूत बन के नहीं आये हैं, बस चाचा के साथ चाय पीने आये हैं. उन्होंने कहा कि चाचा को अपने बदलाव यात्रा का निमंत्रण भी दिये हैै. तेजप्रताप के साथ मुलाकात के बाद जीतनराम मांझी ने कहा कि हमारे बीच कोई टकराव नहीं है. हम सब पहले ही तय कर चुके हैं कि भाजपा को हराने के लिए जीतन राम मांझी एक सीट पर भी चुनाव नहीं लड़ेंगे. हमारे बीच सीट बंटवारा भी हो जाएगा कहीं कोई दिक्कत नहीं है.

पार्टी नेताओं के इस्तीफे पर मांझी ने कहा कि सब का अपना व्यक्तिगत मामला था और यह घर की बात है. कल हमारी पार्टी की बैठक होगी उसमें हम इस पूरे मामले पर चर्चा करेंगे और कौन कहां से टिकट के लिए बात कर रहा था इसकी जानकारी मुझे नहीं है.

रिपोर्ट- अमित कुमार सिंह

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर