Home /News /bihar /

तेजप्रताप ने अपने 'अर्जुन' को लिखी 'मन की बात', पढ़िये क्या दी सलाह

तेजप्रताप ने अपने 'अर्जुन' को लिखी 'मन की बात', पढ़िये क्या दी सलाह

तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

तेजप्रताप ने अपने सहयोगी के हाथों जो पत्र भिजवाया है, इसमें उन्होंने तेजस्वी यादव को अर्जुन कहकर संबोधित करते हुए पर इशारों में निशाना साधा है.

    पटना के 10 सर्कुलर रोड पर स्थित पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर राष्ट्रीय जनता दल समीक्षा बैठक में पार्टी के चीफ लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव खुद तो मौजूद नहीं रहे, लेकिन उन्होंने अपनी उपस्थिति जरूर दर्ज करवा दी. बैठक में पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं और आरजेडी के हारे हुए सभी कैंडिडेट की मौजूदगी में उन्होंने तेजस्वी यादव के नाम एक मैसेंजर के साथ खत भेजा. तेजप्रताप यादव ने इसमें अपने मन की बात बताई और अपने अर्जुन को कुछ सलाह भी दी.

    तेजप्रताप ने अपने सहयोगी के हाथों जो पत्र भिजवाया है, इसमें उन्होंने तेजस्वी यादव को अर्जुन कहकर संबोधित करते हुए पर इशारों में निशाना भी साधा है. उम्मीदवारों के चयन पर सवाल उठाए और लिखा है कि साफ और समर्पित लोगों को ही उम्मीदवार बनाना चाहिए था.

    तेजप्रताप ने तेजस्वी के नाम पत्र लिखा


    तेजप्रताप ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने सिर्फ दो सीटें ही मांगी थीं. जिसने टिकट बांटा और जो चुनाव लड़े उन्हें जिम्मेदारी लेनी चाहिए. हालांकि उन्होंने  2020 में साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई है.

    ये भी पढ़ें- बिहार: 'खामोश' तेजप्रताप यादव अब क्या करने वाले हैं?

    उन्होंने लिखा कि 2020 में साफ छवि के लोगों को टिकट दिया जाए. तेजप्रताप ने EVM भगाओ देश बचाओ आंदोलन करने की बात भी कही. उन्होंने लालू यादव को अपना राजनीतिक गुरु बताते हुए कहा कि बड़े भाई होने के नाते मेरी बात सुनी जाए.

    तेजप्रताप यादव ने तेजस्वी यादव के नाम पत्र लिखा


    तेजप्रताप ने अपने खत में ये इस बात पर भी सांकेतिक भाषा में सफाई पेश की है कि उन्होंने जहानाबाद में आरजेडी के प्रत्याशी का विरोध क्यों किया? उन्होने तेजस्वी से आग्रह करते हुए लिखा है कि पार्टी की एकता बनाए रखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में स्वच्छ एवं योग्य उम्मीदवारों को ही टिकट दें.

    ये भी पढ़ें- 'तेजस्वी-तेजप्रताप विवाद के कारण RJD को हुआ नुकसान, तेजप्रताप के विरुद्ध हो कार्रवाई

    उन्होंने लिखा कि 2019 के परिणाम हम लोगों के लिए अच्छे नहीं रहे, लेकिन इसको लेकर निराश होने की जरूरत नहीं है. सामाजिक न्याय और गरीब-गुरबों के हक की लड़ाई आगे भी मिलकर लड़ेंगे. अंत में उन्होंने एक कविता के माध्यम से उन्होंने अपनी बात भी रखी, उन्होंने लिखा-

    असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो,
    क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो,
    जब तक न सफल हो, नींद चैन त्यागो तुम,
    संघर्ष का मैदान छोड़ मत भागो तुम,
    कुछ किए बिना ही जय जयकार नहीं होती,
    कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती.

    इनपुट- अमित कुमार सिंह

    ये भी पढ़ें- 

     

    Tags: Bihar News, PATNA NEWS, Tejpratap yadav

    अगली ख़बर