लाइव टीवी

बिहार: इस 5 वजहों से बीजेपी अपने नेता मंगल पांडे को नहीं करेगी 'शहीद'

Vijay jha | News18 Bihar
Updated: June 26, 2019, 4:54 PM IST
बिहार: इस 5 वजहों से बीजेपी अपने नेता मंगल पांडे को नहीं करेगी 'शहीद'
बिहार में बीजेपी के नेता और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे

एईएस यानी चमकी बुखार से प्रदेश भर में हुई 170 से ज्यादा बच्चों की मौत पर बिहार सरकार की काफी फजीहत हो चुकी है. ऐसे में मंगल पांडे इस्तीफा देते हैं तो सीएम नीतीश कुमार के लिए यह थोड़ा सुकून भरा होगा. हालांकि राजनीतिक जानकार इसके साइड इफेक्ट देख रहे हैं.

  • Share this:
बिहार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफा मांगे जाने को लेकर सोमवार और मंगलवार को कयासों का बाजार गर्म रहा. हालांकि दोनों ही दलों की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है. बावजूद इसके बिहार के राजनीतिक गलियारों में जेडीयू और बीजेपी के बीच खींचतान की खबरें आम हैं. ऐसे में सवाल ये है कि क्या बीजेपी अपने नेता मंगल पांडे के मसले पर कोई समझौता करेगी?

दरअसल एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार से राज्य भर में हुई 170 से ज्यादा बच्चों की मौत पर बिहार सरकार की काफी फजीहत हो चुकी है. ऐसे में मंगल पांडे इस्तीफा देते हैं तो सीएम नीतीश कुमार के लिए यह थोड़ा सुकून भरा होगा. हालांकि राजनीतिक जानकार इसके साइड इफेक्ट देख रहे हैं. वहीं वो ये भी कह रहे हैं कि कुछ भी हो जाए बीजेपी अपने इस चमकदार चेहरे को कभी दागदार नहीं होने देना चाहेगी.

हो सकता है उल्टा असर
वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय मानते हैं कि इसका उल्टा असर ये हो सकता है कि बीजेपी और जेडीयू के बीच बढ़ रही दूरी और बढ़ जाएगी. वहीं बीजेपी किसी भी तरह से यह नहीं चाहेगी कि बिहार में उसके सबसे चमकदार चेहरे का मुंह काला किया जाए. अगर सहयोगी जेडीयू अधिक दबाव बनाएगी तो इसका उल्टा असर हो सकता है और सत्ताधारी गठबंधन संकट में पड़ सकता है.

मंगल पांडे को शहीद नहीं करेगी BJP
रवि उपाध्याय मंगल के मुताबिक मंगल पांडे न सिर्फ बिहार बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी उभरते हुए संगठनकर्ता के तौर पर पहचान बना चुके हैं. उनके नेतृत्व में बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश और झारखंड में जबरदस्त सफलता हासिल की है. वहीं बिहार में भी बीजेपी के लिए उन्होंने काफी काम किए हैं. ऐसे में बीजेपी मंगल पांडे के साथ खड़ी रहेगी.

BJP का ब्राह्मण चेहरा
Loading...

बीते लोकसभा चुनाव में बिहार में बीजेपी ने जिस तरह से सामाजिक समीकरण बनाए इसमें पार्टी ने ब्राह्मण-भूमिहार को एक तरह से दरकिनार कर दिया था. इससे पार्टी के परंपरागत समर्थक ब्रह्मजन समाज को बीजेपी एक बार और नाराज नहीं कर सकती है. मंगल पांडे बीजेपी का ब्राह्मण चेहरा भी हैं और हाल में बीजेपी इस मामले पर बैकफुट पर भी है.

सशक्त संगठनकर्ता को 'शहीद' नहीं करेगी BJP
मंगल पांडे पूर्व में जब बिहार बीजेपी के अध्यक्ष थे तो उन्होंने पार्टी को हर स्तर पर मजबूत करने का काम किया था. वो बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के करीबी भी माने जाते हैं. रवि उपाध्याय कहते हैं कि अगर जेडीयू ऐसी डिमांड भी करती है तो भाजपा अपने इस नेता को शहीद नहीं करना चाहेगी.

केंद्रीय नेतृत्व को मंगल पांडे पर भरोसा
राजनीतिक जानकारों की राय में मंगल पांडे बिहार बीजेपी का ऐसा चेहरा हैं जिसपर केंद्रीय नेतृत्व भरोसा करता है. आने वाले समय में वो बिहार में बड़ी भूमिका भी निभा सकते हैं. ऐसे में केंद्रीय नेतृत्व कभी नहीं चाहेगी कि बिहार बीजेपी अपने इस कद्दावर नेता का कद किसी भी सूरत में कम करे.

ये भी पढ़ें-


नवादा: हाईटेंशन तार की चपेट में आई बस, 4 की मौत




महीने भर का 'अज्ञातवास' खत्म कर आज पटना लौट सकते हैं तेजस्वी यादव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 26, 2019, 11:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...