लाइव टीवी

जीविका समूह से जुड़ीं 2.5 लाख महिलाएं बनेंगी मानव श्रृंखला का हिस्सा
Patna News in Hindi

jyoti mishra | News18 Bihar
Updated: January 18, 2020, 12:41 PM IST
जीविका समूह से जुड़ीं 2.5 लाख महिलाएं बनेंगी मानव श्रृंखला का हिस्सा
मानव श्रृंखला में जीविका समूह से जुड़ी ढाई लाख से अधिक महिलाएं शामिल होंगी.

जीविका दीदियां जहां आम महिलाओं को इसके उद्देश्य बता रही हैं वहीं कभी रंगोली बनाकर तो कभी मेंहदी प्रतियोगिता के माध्यम से तो कभी शपथ लेकर इन्हें दहेजबंदी, शराबबंदी से लेकर बाल विवाह रोकथाम औऱ जल जीवन हरियाली का संदेश दे रही हैं.

  • Share this:
पटना. जल जीवन हरियाली अभियान को आधार बनाकर सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ बिहार में 19 जनवरी को मानव श्रृंखला बनेगी. 16 हजार किलोमीटर से अधिक लंबी बनने वाली इस श्रृंखला में जीविकाकर्मियों की भी बड़ी भूमिका होने जा रही है क्योंकि इसमें जीविका कि दीदियों की बड़ी भागीदारी देखने को मिलेगी. बता दें कि पूरे बिहार में जीविका समूह से करीब 2.5 लाख महिलाएं जुड़ी हुई हैं जो मानव श्रृंखला का हिस्सा होंगी.

मानव श्रृंखला का आमंत्रण
जीविका दीदीयों को 19 जनवरी की  मानव श्रृंखला के लिए बजाप्ता आमंत्रित किया जा रहा है. ये पत्र जिलाधिकारियों की तरफ से इन्हें भिजवाए गए हैं. बता दें कि जीवीका दीदियां लगातार इसको लेकर जागरूकता फैला रही हैं और अपने समूह से हजारों महिलाओं को जोड़ रही है.

मिशन का उद्देश बता रहीं जीविकाकर्मी

जीविका दीदियां जहां आम महिलाओं को इसके उद्देश्य बता रही हैं वहीं कभी रंगोली बनाकर तो कभी मेंहदी प्रतियोगिता के माध्यम से तो कभी शपथ लेकर इन्हें दहेजबंदी, शराबबंदी से लेकर बाल विवाह रोकथाम औऱ जल जीवन हरियाली का संदेश दे रही हैं.

जीविका में बीपीएम अर्चना कुमारी बताती हैं कई दिनों महिलाओं को जागरुक कर रही है और मानव श्रृंखला में जीवीका दीदीयों कि सख्यां अच्छी हो ये सुनिश्चित कर रही हैं.

जीविका समूह से जुड़ी महिलाओं को जिलाधिकारियों ने आमंत्रण पत्र भेजा है.
जीविका कर्मी रिंकी बताती हैं हम लोग महिलाओं से आम, बरगद जैसे पेड़ लगवा रहे हैं जिससे वो जल जीवन हरियाली के संदेश को जन-जन तक पहुचाएं.

जीविका दीदियों के कहने पर हुई थी शराबबंदी
बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हर मंच से जीविका के दीदीयों के काम की तारीफ करते हैं. इन्हीं लोगों के कहने पर उन्होंने बिहार में शराबबंदी जैसा बड़ा फैसला लिया था. यही वजह है कि जीवीकी कि दीदियां मुख्यमंत्री की ओर से दी गई जिम्मेदारियों को बखूबी समझ भी रही हैं.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 12:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर