लालू परिवार में मचे घमासान का फायदा उठाने में लगी BJP, यादवों को साधने के लिए बनाया ये प्लान

अब भाजपा के यादव नेता बस्तियों में जाकर यह बताने का काम कर रहे है कि राजद के शासन काल में यादवों का सबसे ज्य़ादा शोषण किया गया था.

Neelkamal | News18 Bihar
Updated: January 26, 2019, 9:20 AM IST
लालू परिवार में मचे घमासान का फायदा उठाने में लगी BJP, यादवों को साधने के लिए बनाया ये प्लान
अमित शाह
Neelkamal
Neelkamal | News18 Bihar
Updated: January 26, 2019, 9:20 AM IST
बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नजर पिछड़ा-अतिपिछड़ा वर्ग के साथ-साथ अब लालू प्रसाद यादव के वोट बैंक एमवाई (मुस्लिम और यादव) पर है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से ही भाजपा ने मिशन यादव पर काम करना शुरू कर दिया था. यही वजह है कि बीजेपी ने प्रदेश में यादव समाज के दो बड़े चेहरे को आगे किया है.

भाजपा ने भूपेन्द्र यादव को प्रभारी तो राजद से पार्टी में आये रामकृपाल यादव को केन्द्रीय मंत्री बनाया. इसके साथ ही यादव समाज से आने वाले नित्यानंद राय को भाजपा अध्यक्ष बनाया गया. जानकारों की माने तो बीजेपी ने ऐसा इसलिए किया हैं क्योंकि मोदी लहर में भी बिहार के 17 फीसदी आबादी वाले यादवों में से लगभग 80 फीसदी यादवों ने लालू यादव के नाम पर राजद को ही वोट किया था.

अब भाजपा के यादव नेता बस्तियों में जाकर यह बताने का काम कर रहे है कि राजद के शासन काल में यादवों का सबसे ज्य़ादा शोषण किया गया था. ऐसे में बीजेपी को इस बार यकीन है कि लालू प्रसाद यादव के परिवार पर जिस तरह सीबीआई ने शिकंजा कसा है उसका फायदा उसको मिलेगा. साथ ही लालू को जेल में जाने के बाद से उनके परिवार के अंदर सत्ता को लेकर आपसी संघर्ष शुरू हो गया है. ऐसे में यादवों के बीच यह संदेश गया है कि जो खुद ही परिवार के अंदर की लड़ाई से जूझ रहा हो वो उनका भला कैसे कर सकता है.

भाजपा नेताओं के इस बयान के बाद राजद का तिलमिलाना लाजमी था. राजद प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी के साथ सिर्फ यादव और मुस्लिम ही नहीं बल्कि तमाम सेकुलर जनता लालू यादव के साथ खड़ी है. इसके बाद भी बीजेपी सपना देखती है तो कौन रोक सकता है. वहीं, कांग्रेस का कहना है कि भाजपा जब तक अपनी सोच नहीं बदलेगी जब तक समाज का हर वर्ग उनके साथ जुड़ ही नहीं सकता.

रिपोर्ट- नीलकमल

विदेशी मेम को भाया देसी छोरा, सात समंदर पार से आकर बिहार में रचाई शादी

ये भी पढ़ें- 

SC/ST एक्ट में झूठी रिपोर्ट लिखने पर फंसे दारोगा, कोर्ट ने लगाया 2 लाख का जुर्माना

रालोसपा ने BJP प्रदेश अध्यक्ष को दी चुनौती, 'हिम्मत है तो सीतामढ़ी से चुनाव लड़कर दिखाएं'

सबका साथ-सबका विकास ही है तिरंगे का वास्तविक सम्मानः राधामोहन सिंह
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...