Home /News /bihar /

बिहार की इन सीटों पर खास परिवारों का है दबदबा, वर्षों से लड़ रहे हैं चुनाव

बिहार की इन सीटों पर खास परिवारों का है दबदबा, वर्षों से लड़ रहे हैं चुनाव

हाजीपुर संसदीय सीट पर रामविलास पासवान के परिवार का कब्जा है. रामविलास पासवान यहां से चुनाव जीतते रहे हैं.

    राजनीति में परिवारवाद की खिलाफत सभी पार्टियां करती हैं पर बिहार में कई लोकसभा सीटें ऐसी हैं जो आज भी खानदानी सीटें बनकर रह गई हैं. इन सीटों पर परिवार के अलावा दूसरे उम्मीदवारों की बात भी नहीं सोची जाती है. ऐसे तो कहने को सभी पार्टियों में लोकतंत्र है, जनता की आवाज सुनी जाती है पर हकीकत आज भी दावों से कोसो दूर है. परिवार का मोह भला इतने आसानी से कैसे छुटे. बिहार में आज भी आधा दर्जन सीटों पर सालो से सिर्फ एक ही परिवार का कब्जा है. कई ऐसी सीटे हैं जो खानदानी सीट बनकर रह गई हैं. यहां के लोगों के पास दूसरा विकल्प ही कभी नहीं मिला.

    सारण लोकसभा सीट पर लालू परिवार का कब्जा है. सारण की लोकसभा सीट पर सालों से लालू और लालू के परिवार ही उम्मीदवार बनते आ रहे हैं. ऐसे में सारण सीट लालू परिवार की खानदानी सीट बनकर रह गई है. पहले लालू प्रसाद यहां से जीतते थे, जब जेल गए तो उनकी पत्नी राबड़ी देवी सारण से उम्मीदवार बनी. अब जब राबड़ी चुनाव नहीं लड़ रही है तो इस बार लालू के समधी चंद्रिका राय चुनावी मैदान में हैं.

    इसी तपह हाजीपुर संसदीय सीट पर रामविलास पासवान के परिवार का कब्जा है. रामविलास पासवान यहां से चुनाव जीतते रहे हैं. वर्तमान में जब वे इस लोकसभा का चुनाव नही लड़ रहे तो भाई रामचन्द्र पासवान को यह सीट सौंप दी. बात यदि सीवान संसदीय क्षेत्र की करें तो शहाबुद्दीन का इस सीट पर दशकों से दबदबा रहा है. पहले शहाबुद्दीन यहां से जीतते थे. अब जब वे जेल में है तो उनकी पत्नी हिना शहाब पिछले दो चुनाव से मैदान में हैं.

    इसी तरह महराजगंज लोकसभा सीट पर प्रभुनाथ सिंह के परिवार का कब्जा है. महराजगंज में प्रभुनाथ सिंह के हमेशा से दबदबा रहा है. फिलहाल, वे जेल में है तो महराजगंज की बागडोर उनके बेटे रणधीर सिंह के हाथ मे आ गई है. इस लोकसभा में रणधीर सिंह जोर आजमाइश कर रहे हैं.

    बात यदि मोतिहारी लोकसभा सीट की करें तो अखिलेश सिंह के परिवार का इस सीट पर कब्जा है. अखिलेश सिंह यहां से जीतकर केंद्र में मंत्री तक बने हैं. वर्तमान में जब कांग्रेस से राज्यसभा में चले गए तो बेटे आकाश को मोतिहारी से मैदान में उतार दिया. विडंबना ये है कि कांग्रेस से बात नहीं बनी तो गठबंधन में ही शामिल रालोसपा से टिकट दिलवा दिया. जबकि, बांका संसदीय क्षेत्र से दिग्विजय सिंह के परिवार का कब्जा है.

    ये भी पढ़ें- 

    बिहार की इन लोकसभा सीटों पर परिवारवाद का है कब्जा, दशकों से लड़ रहे हैं चुनाव

    जानिए कौन हैं लालू पर लिखी किताब ‘गोपालगंज से रायसीना’ के लेखक नलिन वर्मा

    Tags: Bihar News, Hajipur S04p21, Lalu Prasad Yadav, Lok Sabha Election 2009, Lok sabha elections 2019, PATNA NEWS, Ram vilas paswan, Saran S04p20

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर