लाइव टीवी

पटना नगर निगम को वसूलने हैं 25 करोड़, बकायदार हैं सरकारी विभाग
Patna News in Hindi

Neelkamal | News18Hindi
Updated: February 1, 2020, 8:23 PM IST
पटना नगर निगम को वसूलने हैं 25 करोड़, बकायदार हैं सरकारी विभाग
पटना नगर निगम ने एक फरवरी को नगर निगम क्षेत्र में आने वाले पचास सरकारी प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी किया है. नगर निगम ने उन सभी होल्डिंग टैक्स डिफ्लाटरों को पच्चीस करोड़ से अधिक टैक्स चुकाने को कहा है.

निगम ने इन सभी को होल्डिंग टैक्स चुकाने के लिए नोटिस जारी किया है. ये भी कोई एक या दो नहीं पूरे 50 सरकारी प्रतिष्ठानों को जारी किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 1, 2020, 8:23 PM IST
  • Share this:
पटना. चौंकाने वाली बात है कि पटना नगर निगम को करीब 25 करोड़ रुपये वसूलने हैं, इसमें भी बड़ी बात यह है कि पूरा पैसा सरकारी विभागों पर बकाया है. अब निगम ने इन सभी को होल्डिंग टैक्स चुकाने के लिए नोटिस जारी किया है. ये भी कोई एक या दो नहीं पूरे 50 सरकारी प्रतिष्ठानों को जारी किया गया है. इसके लिए लंबे समय से नगर निगम इन सरकारी विभागों से गुहार करता रहा लेकिन किसी ने भी रुपये चुकाने की नहीं सोचाा.

अब होगी कार्रवाई
पटना नगर निगम ने एक फरवरी को नगर निगम क्षेत्र में आने वाले पचास सरकारी प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी किया है. नगर निगम ने उन सभी होल्डिंग टैक्स डिफ्लाटरों को पच्चीस करोड़ से अधिक टैक्स चुकाने को कहा है. नोटिस में कहा गया है कि अगर इसके बाद भी टैक्स नहीं चुकाया जाता तो उनके खिलाफ नगर निगम अधिनियम 2007 के तहत कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब है कि हाल ही में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी पर पटना में खुला है जिस पर 50 लाख का टैक्स बाकि था लेकिन निगम के कहने पर 34 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया है.

अभी सरकारी विभागों को नोटिस फिर...

अपर नगर आयुक्त देवेन्द्र प्रसाद तिवारी ने बताया कि इन सरकारी प्रतिष्ठानों के अलावे भी कई बड़े मकान और होटल, रेस्त्रां हैं, जिन्होने होल्डिंग टैक्स नही चुकाया है. उन्होने कहा कि पहले सरकारी प्रतिष्ठानों को नोटिस भेजा गया है. उन्हे यह सुविधा भी दी है कि वे मौर्यलोक काॅम्पलेक्स स्थित मुख्यालय में बने काउंटर में बकाया जमा करा दे. इसके अलावे उनके दफ्तर पर जाने वाले टैक्स कलेक्टर को पैसे देकर रसीद प्राप्त कर सकते हैं. बकायेदार टोल फ्री नंबर 18001218545 या पटना नगर निगम की वेबसाइट पर जानकारी ले सकते है.इसके अलावे नगर निगम को https://patnamunicipal.net/pmc/public के माध्यम से भी टैक्स आनलाइन जमा कर सकते हैं.

ये हें बकायदार
  • अजीमाबाद अंचल में 18 ,बांकीपुर में 10 सरकारी प्रतिष्ठान

  • पाटलीपुत्र में 9 ,नूतन राजधानी में 6 और कंकड़बाग में 7 प्रतिष्ठान

  • सबसे ज्यादा टैक्स बकायेदार में 8.16 करोड़ के तौर पर ए.एन कालेज है

  • संजय गांधी जैविक उद्यान पर 3.28 करोड़

  • केन्द्रीय राजस्व कॉलोनी पर भी 2.21 करोड़

  • केन्द्रीय भवन प्रमंडल पर 2.13 करोड़

  • पटना के सेंट जेवियर्स स्कूल पर 2.01 करोड़

  •  पटना के सेंट जोसेफ हाई स्कूल पर 1.13 करोड़

  • एनएमसीएच पर 2.28 करोड़

  • उर्दू माॅडल स्कूल पर 1.36 करोड़

  • कंकड़बाग के लोहिया नगर पोस्ट ऑफिस पर 29 लाख


इसके अलावे कई स्कूल- काॅलेज और सरकारी कार्यालय है जिन्हे नगर निगम ने होल्डिंग टैक्स डिफाल्टर बताते हुए नोटिस जारी किया है. इस बार नगर निगम भी आर-पार के मूड में दिख रहा है. अपर नगर आयुक्त देवेन्द्र प्रसाद तिवारी ने बताया कि इन डिफ्लटरों की लिस्ट भी सरकार के पास भेज दी जाएगी ताकि सरकार भी अपने स्तर पर इन सरकारी प्रतिष्ठानों से जबाब-तलब कर सके.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी ने Budget को बताया दिशाहीन, कहा- युवाओं के लिए नौकरी का जिक्र नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 8:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर