Lockdown में फंसे 36 लाख लोगों के पास राशन कार्ड नहीं, मंत्री बोले- तीन दिन में बनाकर देंगे अनाज
Patna News in Hindi

Lockdown में फंसे 36 लाख लोगों के पास राशन कार्ड नहीं, मंत्री बोले- तीन दिन में बनाकर देंगे अनाज
(सांकेतिक चित्र)

लॉकडाउन (Lockdown) की हालत में बिहार सरकार ने कार्ड धारियों (Ration card Holders) को मुफ्त अनाज देने की घोषणा तो कर दी पर हकीकत है कि अब भी बिहार में लाखों गरीबों का कार्ड तक नहीं बना है. बिहार के खाद्यआपूर्ति मंत्री के दावे और हकीकत के बीच की कहानी जानिए

  • Share this:
पटना. बिहार में लॉकडाउन (Lockdown) की स्थिति में गरीबों को राशन (Ration) मिलना मुश्किल हो गया है. एक तरफ सरकार कहती है कि सभी को राशन दिया जाएगा पर दूरी तरफ हकीकत ये है कि अभी तक बिहार सरकार ने लाखों गरीबों का राशन कार्ड (Ration Card) तक नहीं बनाया. ऐसे में गरीबो को सरकार द्वारा घोषित मुफ्त राशन कैसे मिलेगा इसका जबाब किसी के पास नहीं. जरा जानिए राशन कार्ड की हकीकत.

अभी भी 36 लाख लोगों के पास राशन कार्ड नहीं

बिहार सरकार ने सभी गरीबों तक 5 किलो चावल और 1 किलो दाल मुफ्त में देने का फैसला किया है. अप्रैल माह में सभी को राधान मुहैया भी करा देने का दावा किया है पर यह दावा पूरा होता नही दिखाई पड़ रहा है. बिहार की जनसंख्या आज लगभग साढ़े 11 करोड़ है. सरकार का दावा है कि अब तक 1.68 करोड़ परिवारों का राशन कार्ड बन चुका है जबकि पिछले विधानसभा सत्र के दौरान ये बातें निकल कर आई थीं कि कई ऐसे राशन कार्ड हैं जो फर्जी हैं जिसे हटाने की बात चल रही है. दूसरी तरफ खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन सहनी खुद मानते हैं कि अब तक 47 लाख नये आवेदन आये हैं जिनमें से सिर्फ 11 लाख परिवार तक ही कार्ड पहुंच पाया है. मतलब साफ है कि अब भी 36 लाख लोगों तक कार्ड नहीं पहुंच पाया है. इन 36 लाख लोगों तक कब और कैसे अनाज पहुंचेगा अब तक साफ नहीं है.



मंत्री 3 दिन में 36 लाख राशन कार्ड बनाने के कर रहे दावा,
अब जब गरीबों तक खाना पहुंचाने की बात हो रही है तो कार्ड बनवाने की बात कही जा रही है. सीएम नीतीश कुमार ने घोषण की है कि जिसके पास राशन कार्ड नहीं है तत्काल कार्ड बनाया जाए और राशन मुहैया कराई जाए. इतने सालों में अब तक सभी का राशन कार्ड नहीं बनने के बाद 36 लाख लोगों के कार्ड बनाने की बात पर खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन साहनी के दावा है कि अगले तीन दिनों में सबका राशन कार्ड बन जायेगा और सभी को मुफ्त राशन भी दिया जाएगा.

कांग्रेस ने मंत्री के दावे पर उठाया सवाल

सभी को कार्ड बनाने और राशन मुहैया कराने के मंत्री के दावे को खोखला बताते हुए कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने बताया कि सरकार सिर्फ घोषणा कर रही है. धरातल पर जरूरतमंदों को राशन मुहैया नहीं कराया ज रहा है. प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा कि अब तक लाखों लोगों का कार्ड क्यों नही बन पाया. जब जरूरत आन पड़ी है तो सिर्फ दावे किए जा रहे हैं.

कई पंचायतों में पीडीएस की दुकानें रह रही बंद

तमाम दावों के बावजूद पटना के ही कई ऐसे पंचायत हैं जहां पीडीएस की दुकानें बंद रह रही हैं. फुलवारीशरीफ प्रखंड के गोनपुरा पंचायत में 6 पीडीएस दुकान में सिर्फ एक में ही राशन का सामान बंट रहा है. गोनपुरा पंचायत की मुखिया आशा देवी ने बताया कि मुफ्त राशन देने की बात हुई है पर अभी तक दुकानों में गोदाम से राशन भेजा ही नहीं गया है इसलिए लोगों को नहीं मिल पा रहा है. हालांकि मुखिया ने यह भी बताया कि पिछले मार्च तक का राशन सभी को दिया जा चुका है.

ये भी पढ़ें- निजामुद्दीन के बाद बिहार के मरकज ने बढ़ाई परेशानी,नालंदा में जुटे थे 640 जमाती

ये भी पढ़ें- Lockdown: आंध प्रदेश के स्कूल में फंसे बिहार के 200 बच्चे, सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर CM से लगाई गुहार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading