बिहार: इन तीन जिलों में होगा कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन, जानें सरकार का पूरा प्लान

कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन आज से.

कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन आज से.

COVID-19 Vaccine Dry-run: बिहार स्वास्थ्य विभाग (Bihar Health Department) से मिली जानकारी के अनुसार ड्राई रन के लिए तीनों जिले में तीन-तीन केंद्रों को चुना गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 8:57 AM IST
  • Share this:

पटना. कोरोना संक्रमण (Corona infection) के कारण जहां वर्ष 2020 में पूरी दुनिया परेशान रही वहीं, वर्ष 2021 में इसके वैक्सीन डोज सफल होने की लोगों को पूरी उम्मीद है. इसी क्रम में देशभर में आज (2 जनवरी, 2021) से कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन (Corona Vaccine Dry Run) शुरू करने की तैयारी है. यह ड्राई रन देश के हर राज्य में दो-दो शहरों में आयोजित किया जाएगा. हालांकि बिहार में इसके लिए तीन जिलों को चुना गया है. मिली जानकारी के अनुसार कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन राजधानी पटना, जमुई और पश्चिमी चंपारण के बेतिया में किया जाएगा.

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ड्राई रन के लिए तीनों जिले में तीन-तीन केंद्रों को चुना गया है. पटना में मॉक ड्रिल के लिए शास्त्रीनगर में शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, फुलवारी शरीफ में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और दानापुर में सबडिविजनल अस्पातल को चुना गया है. वहीं जमुई में तीन स्कूलों में ये परीक्षण अभियान पूरा किया जाएगा.  पश्चिम चंपारण जिले में  तीन पीएचसी- चनपटिया, मझौलिया व अरबन में ड्राई रन होगा.

पोर्टल के जरिए टीकाकरण

बता दें कि बिहार में इस टीकाकरण अभियान की कमान स्टेट हेल्थ सोसायटी के कार्यकारी निदेशक मनोज कुमार ने संभाली है. उन्होंने बताया कि मॉक ड्रिल में टीकाकरण अभियान के लिए इस्तेमाल की जा रही टेक्नोलॉजी का टेस्ट किया जाएगा. केंद्र सरकार के गाइडलाइंस के मुताबिक, टीकाकरण को-विन (Co-WIN) पोर्टल के माध्यम से होगा. इस पोर्टल में टीका लगाने वाले से लेकर जिसे टीका लगाना है, उसका डेटाबेस मौजूद है.
बकौल मनोज कुमार जिन्हें टीका लगाना है, उनके मोबाइल पर मैसेज भेजा जाएगा. इसके माध्यम से उन्हें दूसरी बार कब टीका लगना है, इसकी जानकारी भी दी जाएगी। हर केंद्र के लिए 25 लोगों को चुनाव किया गया है और ये सभी हेल्थ केयर वर्कर्स हैं. जिन्हें टीका लगेगा, उनका पूरा विवरण को-विन पोर्टल पर अपोलड किया जाएगा. उन्होंने कहा कि भारत सरकार के एसओपी का पालन करते हुए इस पूरी प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा.

35 हजार हेल्थ-वर्कर्स ने किया अप्लाई

मनोज कुमार ने बताया कि अभी तक 35 हजार हेल्थ केयर वर्कर्स ने टीकाकरण के लिए अप्लाई किया है. उन्होंने कहा हर टीकाकरण केंद्र पर एक वेटिंग हॉल, एक टीकाकरण रूम और एक ऑब्जर्वेशन हॉल बनाया गया है. मॉक ड्रिल में हर प्वाइंट पर 25 हेल्थ वर्कर्स को उपस्थित रहना अनिवार्य है. इन्हीं पर वैक्सीन लगाने का ट्रायल किया जाएगा.



बता दें कि अबतक देश के चार राज्यों पंजाब, असम, गुजरात और आंध्र प्रदेश में ही ऐसा ड्राई रन किया गया था. इन राज्यों में ड्राई रन को लेकर अच्छे परिणाम मिले. इसके बाद अब सरकार ने पूरे देश में इस ड्राई रन को लागू करने का फैसला किया है.

गौरतलब है कि इस ड्राई रन के दौरान कोई वैक्‍सीन इस्‍तेमाल नहीं होगी. ड्राई रन के जरिए यह टेस्‍ट किया जाएगा कि सरकार ने टीकाकरण की जो योजना बनाई है, वह असल में कितना कारगर है. इसके अलावा सरकार Co-WIN ऐप के जरिए रियल-टाइम मॉनिटरिंग को भी टेस्‍ट करेगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज