Assembly Banner 2021

मणिपुर के 3 उग्रवादी चढ़े पटना पुलिस के हत्थे, 15 अगस्त को ब्लास्ट करने की थी तैयारी

पटना में पकड़े गए मणिपुर के तीन उग्रवादी

पटना में पकड़े गए मणिपुर के तीन उग्रवादी

पुलिस सूत्रों के अनुसार पटना के हार्डिंग पार्क इलाके से पकड़े गए तीनों माओवादियों ने खुलासा किया कि वे लोग मणिपुर पहुंचते और 15 अगस्त को किसी बड़ी घटना को अंजाम देते.

  • Share this:
पटना पुलिस को उस समय बड़ी सफलता मिली जब मणिपुर में सक्रिय माओवादी संगठनों के तीन सदस्यों को कोतवाली थाना के एक वीआईपी इलाके से शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया. मिली जानकारी के अनुसार मणिपुर की स्पेशल पुलिस जो इनको गिरफ्तार करने के लिए पटना आई थी, पटना पुलिस के साथ थी. बताया जा रहा है कि ये तीनों खतरनाक उग्रवादी हैं और मणिपुर में इन पर कई मुकदमें दर्ज हैं.

पुलिस सूत्रों के अनुसार पटना के हार्डिंग पार्क इलाके से पकड़े गए तीनों माओवादियों ने खुलासा किया कि वे लोग मणिपुर पहुंचते और 15 अगस्त को किसी बड़ी घटना को अंजाम देते.  इस बात की भनक मणिपुर पुलिस को लग गई. इसके बाद पुलिस ने पटना पुलिस से संपर्क किया और तीनों की गिरफ्तारी हुई.

पकड़े गए तीनों उग्रवादियों में कंगलैपक कम्युनिस्ट पार्टी माओवादी के अद्यकच सपेम कंगलैपक मीटी उर्फ चिरंगलें उर्फ सरत है. यह वर्ष 2008 में सेंट्रल जेल से इलाज के लिये सजीवर हॉस्पिटल से फरार हो गया था. दूसरा वाहेनगोबरम थोई लोवनग उर्फ जोहान है, जो माओवादी कम्युनिस्ट पार्टी का वित्त सचिव है. तीसरा साधारण कार्यकर्ता है. इनमें से एक उग्रवादी पिछले 11 वर्ष से फरार है.



manipur militant
पटना के CJM कोर्ट में पेश किए गए उग्रवादियों की जानकारी

बताया जा रहा है कि घटना को अंजाम देने के लिए नेपाल पहुंचे और वहीं योजना बनाई. इसके बाद वे पटना आए और कोलकाता होते हुए इम्फाल जाने वाले थे. तभी पटना में पकड़े गए. शुक्रवार को तीनों को पटना सीजेएम कोर्ट में पेश करने के बाद मणिपुर पुलिस को 48 घंटे के ट्रांजिट रिमांड पर सौंप दिया गया है.

इनपुट- संजय कुमार/क्रांति कुमार

ये भी पढ़ें-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज