VIDEO : क्राइम से कराह रहा बिहार, चौबीस घंटे में तीन मर्डर

सवाल उठता है कि क्या बिहार में पुलिस का इकबाल खत्म होने लगा है? सूबे की राजधानी पटना का दिल कहे जाने वाले मोईनुल हक स्टेडियम इलाके में सीआरपीएफ कैंप और पुलिस थाना होने के बावजूद मर्डर को अंजाम दिया जाता है.

News18 Bihar
Updated: September 6, 2018, 7:52 AM IST
News18 Bihar
Updated: September 6, 2018, 7:52 AM IST
बिहार पुलिस मुख्यालय ने पिछले दिनों प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पत्रकारों को संख्या के आधार पर ये जताया कि पिछले साल के मुकाबले इस साल अपराध में कमी आई है. लेकिन अगर 2018 के आंकड़ों पर नजर डालें तो जनवरी से लेकर मई तक रेप और मर्डर जैसे जघन्य अपराध लगातार बढ़े हैं. इसी हफ्ते मंगलवार से बुधवार के बीच बिहार में तीन मर्डर की घटनाए हुई.

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बिहार में पुलिस का इकबाल खत्म होने लगा है? सूबे की राजधानी पटना का दिल कहे जाने वाले मोईनुल हक स्टेडियम इलाके में सीआरपीएफ कैंप और पुलिस थाना होने के बावजूद मर्डर को अंजाम दिया जाता है.

पिछले एक महीने में राजधानी के कम से कम चार दारोगा सस्पेंड हो चुके हैं और दो थानों के पुलिसकर्मी लाइन हाजिर हो चुके हैं. इसके बावजूद एसएसएसपी मनु महाराज के क्राइम कंट्रोल की कोशिशें फेल हो जाती हैं.

जब पटना में ये हाल है तो बिहार के अन्य जिलों की स्थिति समझी जा सकती है. समस्तीपुर, बेगूसराय जैसे इलाकों से हर दिन लूट, डकैती और मर्डर की खबरें आती हैं. पटना के खाजेकलां में सरेआम दो दिन पहले एक व्यापारी की हत्या हो जाती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर