• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • पटना में जानलेवा बनी जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल, अब तक 20 मरीजों की मौत

पटना में जानलेवा बनी जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल, अब तक 20 मरीजों की मौत

अस्पताल में भर्ती मरीज

अस्पताल में भर्ती मरीज

पीएमसीएच अधीक्षक डॉक्टर राजीव रंजन प्रसाद ने आज ही दोपहर तक डॉक्टरों के काम पर वापस लौटने का भरोसा जताया है दूसरी ओर जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. शंकर भारती का कहना है कि अस्पताल प्रशासन से वार्ता हो रही है लेकिन अभी तक कोई ठोस निर्णय निकला है

  • Share this:
    राजधानी पटना के पीएमसीएच अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी है. जूनियर डॉक्टरों की इस हड़ताल से अब तक 20 मरीजों की मौत हो चुकी है. हड़ताल से मरीजों की हो रही मौत से जहां परिजनों में हाहाकार मचा है वहीं 300 से ज्यादा मरीज अस्पताल से अभी तक पलायन कर चुके हैं.

    अस्पताल में अब तक 45 ऑपरेशन टाले जा चुके है. पूरा अस्पताल नर्स के भरोसे है. हड़ताल से मरीज के साथ परिजन भी परेशान हैं. मरीज और उनके परिजन हड़ताल खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं. अस्पताल प्रशासन का कहना है कि एक की जगह दो पीओडी और बाहर से आए डॉक्टरों को खासकर इमरजेंसी में तैनात किया गया है. इस हड़ताल का असर ओपीडी में भी देखने को मिल रहा है. अब तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक जूनियर डॉक्टर आज फिर बैठक करेंगे और बैठक में ही हड़ताल को लेकर फैसला होगा.

    ये भी पढ़ें- अंगदान: 19 साल के सौरव की आंखों से कोई देखेगा पटना तो कोलकाता में धड़केगा किसी का दिल

    इससे पहले पीएमसीएच अधीक्षक डॉक्टर राजीव रंजन प्रसाद ने आज ही दोपहर तक डॉक्टरों के काम पर वापस लौटने का भरोसा जताया है. उन्होंने मंगलवार को बताया कि अस्पताल के कई वार्डों में सायरन सिस्टम शुरू होगा ताकि हंगामा, मारपीट और किसी भी तरह की घटना में ये बजने लगेगा. अधीक्षक के मुताबिक गायनी, पीडियाट्रिक्स, इमरजेंसी में सायरन, की सुविधा लगाई जा रही है साथ ही जल्द नई सेक्यूरिटी कंपनी को लेकर टेंडर निकाला जायेगा जिससे डॉक्टरों में भय का माहौल न हो.

    दूसरी ओर जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. शंकर भारती का कहना है कि अस्पताल प्रशासन से वार्ता हो रही है लेकिन अभी तक कोई ठोस निर्णय निकला है. हमारी सभी मांगें पूरी होने के बाद ही साथी जूनियर डॉक्टर अपने काम पर वापस लौटेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज