अपना शहर चुनें

States

लालू यादव पर किए सुशील मोदी के ट्वीट को ट्विटर ने किया डिलीट, जानें पूरा माजरा

सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)
सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने मोबाइल नंबर शेयर करते हुए रांची की जेल में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह फोन कर एनडीए (NDA) विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 10:04 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) पर भाजपा विधायक ललन पासवान (Lalan Paswan) को लालच देने का आरोप लगाया था. इसके बाद उन्होंने एक ट्वीट में लालू प्रसाद यादव का नंबर शेयर किया था. खबर आ रही है कि भाजपा नेता द्वारा किए गए इस ट्वीट को ट्विटर ने हटा दिया है. ट्विटर के अनुसार, इस ट्वीट में नंबर सार्वजनिक कर नियमों का उल्लंघन किया गया है, इसलिए इसे हटा दिया गया है.

बता दें कि सुशील कुमार मोदी ने मोबाइल नंबर शेयर करते हुए रांची की जेल में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह फोन कर एनडीए विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि लालू एनडीए विधायकों को मंत्री बनाने तक का ऑफर दे रहे हैं. आप देख सकते हैं कि इस ट्वीट को डिलीट करते हुए ट्विटर ने क्या टिप्पणी की है.

सुशील मोदी का ट्वीट डिलीट




बिहार विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव से पहले सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को ये आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा था कि जब उन्होंने वापस उस नंबर को मिलाया तो लालू प्रसाद यादव ने फोन उठाया था. जिसके बाद उन्होंने जवाब दिया था कि यह गंदा खेल सफल नहीं होगा.

गौरतलब है कि इसके अलावा भी सुशील कुमार मोदी ने एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने एक कथित ऑडियो जारी किया था. ट्वीट में सुशील मोदी ने दावा किया था कि लालू प्रसाद यादव ने विधायक को स्पीकर के चुनाव से पीछे हटने की सलाह दी और उनका समर्थन करने को कहा.

वहीं भाजपा विधायक ललन पासवान ने दावा किया है कि उऩके पास लालू यादव का फोन आया था. भागलपुर की पीरपैंती सीट से चुनकर आए ललन पासवान ने ऑडियो के आधार पर दावा किया था कि लालू यादव ने उन्‍हें फोन कर मंत्री पद का ऑफर देते हुए सरकार गिराने की बात कही. हालांकि राजद ने इस दावे को गलत बताया है. बता दें कि वो ट्वीट अभी भी ट्विटर से हटाया नहीं गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज