चमकी बुखार- रविवार को दो और बच्चों की गई जान, 167 पहुंचा AES से मौत का आंकड़ा

चमकी बुखार से बच्चों की लगातार हो रही मौत के बीच मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है.

News18 Bihar
Updated: June 23, 2019, 12:25 PM IST
चमकी बुखार- रविवार को दो और बच्चों की गई जान, 167 पहुंचा AES से मौत का आंकड़ा
बिहार के एसकेएमसीएच में इलाजरत बच्चे
News18 Bihar
Updated: June 23, 2019, 12:25 PM IST
बिहार में चमकी बुखार यानि इंसेफेलाइटिस का कहर लगातार जारी है. अब तक इस बीमारी ने बिहार में 167 बच्चों की जान ले ली है जबकि अभी भी कई इसकी चपेट में हैं. रविवार को इस बीमारी से बिहार के दो बच्चों ने दम तोड़ दिया है जिनमें एक की मौत मुजफ्फरपुर में हुई है वहीं सीवान के एक बच्चे की गोरखपुर में मौत हो गईय

कहां कितनी मौत

मुजफ्फरपुर में अबतक 131 बच्चों की मौत हुई है तो हाजीपुर में 11 बच्चों ने दम तोड़ा है. समस्तीपुर में  5 बच्चों की मौत हुई है जबकि मोतिहारी में अबतक 7 बच्चों ने दम तोड़ा है. पटना के PMCH में एक बच्चे की मौत हुई है वहीं शिवहर में AES से मौत का आंकड़ा दो है. भागलपुर में अबतक AES से 5 बच्चों की जान गई है तो बेगूसराय में AES से एक बच्चे, भोजपुर में एक की मौत हुई है. सीवान में AES से अबतक दो बच्चों की मौत हुई है वहीं बेतिया में AES से एक बच्चे की जान गई है.

डॉक्टर सस्पेंड

चमकी बुखार से बच्चों की लगातार हो रही मौत के बीच मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है. निलंबित सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर का नाम डॉ. भीमसेन कुमार है. बता दें कि 19 जून को स्वास्थ्य विभाग ने पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (पीएमसीएच) के बाल रोग विशेषज्ञ की एसकेएमसीएच में तैनाती कर दी थी.

SKMCH से नर कंकाल बरामद

शनिवार को एसकेमसीएच से एक नया मामला सामने आ रहा है. यहां पर नर कंकाल मिलने से हड़कंप मच गया है. मीडिया में खबर आने के बाद प्रशासन ने मामले की जांचे के आदेश दिए हैं. इस पर एसकेमसीएच के अधीक्षक डॉ. एसके शाही ने इस मामले की जांच के लिए एक टीम गठित की है. प्राचार्य और अधीक्षक की टीम संयुक्त रूप से इस मामले की जांच करेगी. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार शव की अंत्येष्टि के लिए 2000 रुपए देती है. उसके बाद भी इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं. अस्पताल प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लिया है.
Loading...

ये भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर के SKMCH के सीनियर डॉक्टर निलंबित

ये भी पढ़ें- सुशील मोदी बोले- नहीं दी तेजस्वी यादव को कोई क्लीन चिट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 23, 2019, 12:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...