लाइव टीवी

CAA: विरोधियों पर गिरिराज का हमला, कहा- यही लोग JNU में लगाते थे 'घर-घर पैदा होंगे अफजल' के नारे
Patna News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 8:46 AM IST
CAA: विरोधियों पर गिरिराज का हमला, कहा- यही लोग JNU में लगाते थे 'घर-घर पैदा होंगे अफजल' के नारे
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सीएए के विरोधियों पर हमला बोला है. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने कहा कि प्रदर्शन करने वाले लोग वहीं हैं जो जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 'घर-घर पैदा होंगे अफजल' के नारे लगाते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 8:46 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जहां एक तरफ पूरे देश में CAA-NRC का विरोध हो रहा है, तो वहीं बीजेपी (BJP) की तरफ से लगातार इसके पक्ष में बयान आ रहे हैं. दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) से लेकर जामिया में हो रहे प्रदर्शनों को लेकर अब BJP के नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने भी बयान दिया है. उन्होंने कहा कि यह कानून देश के ही हित के लिए है. प्रदर्शन कर रहे लोग इसका विरोध केवल माहौल खराब करने के लिए कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस पाकिस्तान की भाषा बोल रही है.

गिरिराज सिंह का आरोप
केंद्रीय मंत्री ने प्रदर्शन कर रहे लोगों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग प्रदर्शन के नाम पर शाहीन बाग जाकर फोटो खिंचवा रहे हैं. ये वही लोग हैं जो जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 'घर-घर पैदा होंगे अफजल' के नारे लगाते थे.

जामिया से शाहीन बाग तक मार्च

संशोधित नागरिकता कानून को निरस्त करने की बढ़ती मांग के बीच औरतों और बच्चों समेत सैकड़ों लोगों ने रविवार को जामिया मिल्लिया इस्‍लामिया विश्वविद्यालय के गेट से शाहीन बाग तक सीएए विरोधी मार्च निकाला. इस मार्च में शामिल कुछ स्थानीय लोग महात्मा गांधी तो कुछ बीआर आंबेडकर बनकर मार्च का हिस्सा थे तो वहीं तीन लोग कैदियों की पोशाक में जंजीरों में बंधे हुए शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव बने हुए थे. प्रदर्शनकारियों ने 'आज़ादी' और 'सीएए-एनआरसी पर हल्ला बोल' और अन्य नारे लगा रहे थे.

'हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई हैं भाई-भाई'
प्रदर्शनकारियों ने संकेत के तौर पर एक 'निरोध शिविर' को भी प्रदर्शित किया, जिसके भीतर विभिन्न धर्मों के छोटे बच्चे बैठे थे. पिछले एक महीने से अधिक समय से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्‍ली के शाहीन बाग में लोग सीएए के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. मार्च में कई लोगों के हाथ में मोमबत्तियां तो कई के हाथ में 'हम CAA, NRC और NPR को अस्वीकार करते हैं', 'हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई, आपस में हैं भाई-भाई' लिखी तख्तियां थीं.अमित शाह ने राहुल को दी चुनौती
इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी हुबली (कर्नाटक) में कहा कि जो लोग CAA के खिलाफ हैं, वे दलित विरोधी हैं. उन्होंने इस दौरान कांग्रेस पर भी हमला बोला और कहा कि कांग्रेस ने देश को धर्म के आधार पर बांटा है. अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यह साबित करने की चुनौती दी कि संशोधित नागरिकता कानून किसी भी भारतीय मुस्लिम की नागरिकता छीन लेगा. साथ ही उन्होंने गांधी को यह कानून पूरा पढ़ने की सलाह भी दी. अमित शाह ने हुबली में भाषण के दौरान कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, सीएए में ऐसी कोई धारा नहीं है जो मुसलमानों की नागरिकता लेने की बात करती हो.

सीएए को लेकर वोट बैंक की राजनीति
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस (Congress), कम्युनिस्ट पार्टी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, जद(एस), बसपा और सपा पर सीएए को लेकर वोट बैंक की राजनीति करने का भी आरोप लगाया.

ये भी पढ़ें: CAA Protest: बेल पर रिहा हिंसा आरोपियों को पाठशाला में दी गई CAA, NRC की जानकारी  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 8:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर