बिहार के विश्वविद्यालयों में जुलाई में होगी परीक्षा, इंतजार सरकार से ग्रीन सिग्नल मिलने का
Patna News in Hindi

बिहार के विश्वविद्यालयों में जुलाई में होगी परीक्षा, इंतजार सरकार से ग्रीन सिग्नल मिलने का
बिहार के विश्वविद्यालयों में जुलाई में होगी परीक्षा

राज्य में 19 जुलाई से बीएड की एंट्रेंस परीक्षा की तिथि निर्धारित है जिसको लेकर मिथिला विश्वविद्यालय ने तैयारी भी शुरू कर दी है. बीएड के एचओडी डॉ ध्रुव कुमार बता रहे हैं कि परीक्षा को लेकर इस बार विशेष तैयारी हो रही है और एक बेंच पर न सिर्फ एक परीक्षार्थी बैठेंगे

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) और कोरोना महामारी (Corona Epidemic) को लेकर बाधित हुई बिहार के विश्वविद्यालयों की पढ़ाई फिर से पटरी पर लाने की कवायद शुरू कर दी गई है. इस कड़ी में अगले महीने यानी जुलाई में विश्वविद्यालयों में परीक्षा (University Exams In Bihar) आयोजित होगी. कोरोना महामारी के बीच केंद्र सरकार के अनलॉक 1 (Unlock 1) लागू होने के बाद विश्विद्यालयों में जहां कक्षा संचालन से लेकर परीक्षा तक के लिए रणनीति बननी शुरू हो गयी है वहीं यूजीसी ने भी परीक्षा को लेकर अपना गाईडलाईन जारी कर दी है.

यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को दी छूट

यूजीसी ने हालात को देखते हुए विश्विद्यालयों को फ्री हैंड कर दिया है और 1 जुलाई से कभी भी परीक्षा लेने पर सहमति दी है. विश्विद्यालयों को अब इंतजार सिर्फ सरकार के ग्रीन सिग्नल का है कि शैक्षणिक संस्थानों को खोलने की अनुमति कब मिलती है. बिहार के कोचिंग संस्थानों से लेकर स्कूलों में जहां ताला लटके 2 माह से अधिक हो गए वहीं विश्वविद्यालयों में भी शैक्षणिक सत्र पर बुरा असर पड़ा है. यूजी से लेकर पीजी के क्लास बाधित ना हो और सिलेबस छूटे नहीं इसको लेकर राजभवन के निर्देश पर सभी विश्वविद्यालयों मे ऑनलाइन क्लासेज भी चलाये जा रहे हैं साथ ही राजभवन को रिपोर्ट भी सौंपी जा रही है. एकेडमिक कैलेंडर के आधार पर विश्विद्यालयों में परीक्षा जून में ही आयोजित होनी थी लेकिन लॉकडाउन ने रिशेड्यूल कर दिया.



19 जुलाई हो होनी है बीएड की एंट्रेस परीक्षा
राज्य में 19 जुलाई से बीएड की एंट्रेंस परीक्षा की तिथि निर्धारित है जिसको लेकर मिथिला विश्वविद्यालय ने तैयारी भी शुरू कर दी है. बीएड के एचओडी डॉ ध्रुव कुमार बता रहे हैं कि परीक्षा को लेकर इस बार विशेष तैयारी हो रही है और एक बेंच पर न सिर्फ एक परीक्षार्थी बैठेंगे बल्कि परीक्षा केंद्रों में भी इजाफा किया जाएगा. इस बार एंट्रेंस में 1 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे और बीएड परीक्षा समय पर इसीलिए ली जाएगी ताकि सितंबर से क्लास शुरू हो सके.

पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय ने भी शुरू की तैयारी

पाटलिपुत्र विश्विद्यालय का भी दावा है कि रेगुलर क्लास डिस्टर्ब होने के बाद भी ऑनलाइन क्लास के जरिये सिलेबस पूरा किया जा रहा है और अभी से ही जुलाई में आयोजित परीक्षा की तैयारी भी शुरू हो गयी है. मीडिया प्रभारी प्रोफेसर बीके मंगलम कहते हैं कि यूजीसी ने बतौर परीक्षा को लेकर गाईडलाईन भी जारी कर दिया है जिसके आधार पर जुलाई में यूजी 1, यूजी 2 और पीजी 1 की परीक्षा ली जाएगी. परीक्षा में पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो इसको लेकर तैयारी की जा रही है.

छात्र संगठनों ने भी रखी मांग

पाटलिपुत्र विश्विद्यालय में अबतक नामांकन प्रक्रिया शुरू भी नहीं हुई है क्योंकि सीबीएसई और आईसीएसई के प्लस 2 का रिजल्ट जारी नहीं हुआ है जबकि छात्रों का प्रतिनिधित्व कर रहे एबीवीपी छात्र नेता पशुपति नाथ और सीनेट सदस्य आलोक तिवारी भी सेशन बाधित न हो और छात्रों की परीक्षा पर असर नहीं पड़े इसको लेकर पीपीयू के कुलपति को छात्रों के हित के लिए मांग पत्र सौंपा है और समय पर परीक्षा लेने, छात्रवृति देने और छात्रावास फीस माफ करने समेत कई मांगों पर विचार करने का निवेदन किया है. अब इंतजार इस बात का करना होगा कि आखिर सरकार कक्षा संचालन और परीक्षा लेने की अनुमति कबतक दे पाती है.

ये भी पढ़ें- सरकार ने स्कूल-कॉलेज खोलने के दिए संकेत, Unlock 2 से शुरू हो सकती है पढ़ाई

ये भी पढ़ें- एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मारा गया थानेदार आशीष सिंह का हत्यारा दिनेश मुनि
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading