Home /News /bihar /

UP Assembly Election: अपने दम पर चुनाव लड़ेगी JDU, कल दिल्ली में बैठक के बाद होगा उम्मीदवारों के नामों का एलान!

UP Assembly Election: अपने दम पर चुनाव लड़ेगी JDU, कल दिल्ली में बैठक के बाद होगा उम्मीदवारों के नामों का एलान!

जेडीयू के प्रधान महासचिव और यूपी प्रभारी ने कहा कि उन्हें इस बात की निराशा है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू का बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं हो सका

जेडीयू के प्रधान महासचिव और यूपी प्रभारी ने कहा कि उन्हें इस बात की निराशा है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू का बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं हो सका

Bihar News: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ने के मुद्दे पर मंगलवार को लखनऊ में जेडीयू के प्रदेश के पदाधिकारियों की बैठक हुई. इसमें दिल्ली से बतौर पर्यवेक्षक पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव और यूपी के प्रभारी के.सी त्यागी भी मौजूद थे. बैठक में 51 उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा हुई

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. अब यह लगभग तय हो गया है कि जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) अकेले अपने दम पर लड़ेगी. मंगलवार को लखनऊ (Lucknow) में इस बाबत प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई जिसमें दिल्ली (Delhi) से बतौर पर्यवेक्षक पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव और यूपी के प्रभारी के.सी त्यागी (KC Tyagi) भी मौजूद थे. इस बैठक में 51 उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा हुई. जेडीयू (JDU) से जुड़े सूत्रों के मुताबिक बुधवार की शाम चार बजे दिल्ली स्थित पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में बैठक होगी जिसमें उम्मीदवारों (JDU Candidates) के नाम पर अंतिम मुहर लगा दी जाएगी.

बुधवार को होने वाली बैठक में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, केंद्रीय मंत्री आर.सी.पी सिंह, पार्टी के प्रधान महासचिव और यूपी के प्रभारी केसी त्यागी, जेडीयू के यूपी अध्यक्ष अनूप पटेल, पार्टी महासचिव आफाक आलम समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे.

‘BJP के साथ गठबंधन नहीं होने से JDU को हुई निराशा’

इसके पहले, लखनऊ में के.सी त्यागी ने बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं होने पर निराशा जताते हुए कहा कि गठबंधन की मजबूती के लिए हमने बहुत प्रयास किया. कई बार बीजेपी नेताओं से हमारी बातचीत भी हुई. लेकिन निषाद पार्टी और अपना दल को तो बीजेपी ने अपना सहयोगी बताया. लेकिन जेडीयू को नहीं, इसलिए निराश होकर हमने अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि जेडीयू उत्तर प्रदेश में बिहार मॉडल को लेकर चुनाव मैदान में उतरेगी जिसमें हम न्याय के साथ विकास के एजेंडे पर आगे बढ़ेंगे.

उन्होंने कहा कि हमने किसानों की फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को कानूनी मान्यता मिलने का मुद्दा उठाया है. चुनाव के दौरान किसानों पर दर्ज सभी मुकदमे वापस हों, इसकी भी हम मांग करते हैं. के.सी त्यागी ने यूपी में भी जातीय जनगणना करवाने की मांग की. उन्होंने कहा कि पूर्वांचल को स्पेशल इकोनामिक राज्य घोषित किया जाए. सम्राट अशोक देश के सबसे बड़े गौरव हैं, उनकी तुलना औरंगजेब से करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए. दया प्रकाश सिन्हा से पद्मश्री वापस लेना चाहिए.

जेडीयू के प्रधान महासचिव ने बिहार में बीजेपी के साथ किसी भी तरह की खींचतान से इनकार करते हुए कहा कि बीजेपी हमारी मित्र पार्टी है. उन्होंने देश के सभी राज्यों को बिहार मॉडल से प्रेरणा लेने की सलाह दी.

Tags: Bihar politics, Bjp jdu, KC tyagi, UP Assembly Election 2022, Uttar Pradesh Assembly Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर