'महागठबंधन के दल अमृत पीएं, हम विष पीने को तैयार', उपेंद्र कुशवाहा के बयान ये बोली कांग्रेस-RJD
Patna News in Hindi

'महागठबंधन के दल अमृत पीएं, हम विष पीने को तैयार', उपेंद्र कुशवाहा के बयान ये बोली कांग्रेस-RJD
उपेंद्र कुशवाहा को तवज्जो नहीं दे रही RJD और कांग्रेस!

जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) के महागठबंधन से अलग होने के बाद वाम दलों (Left parties) की में एंट्री हो चुकी है. ऐसे में सीट शेयरिंग को लेकर एक बार फिर पेंच फंसता नजर आ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 8:05 PM IST
  • Share this:
पटना. महागठबंधन (Grand Alliance) में सीट शेयरिंग में तवज्जो नहीं दिए जाने पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा (Upendra kushwaha) ने हाल में ही अपनी लाचारगी जताते हुए कहा था कि महागठबंधन के दल अमृत पीएं हम विष पीने का तैयार हैं. अब उनके इस बयान पर काफी प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. कांग्रेस नेता तारिक अनवर (Congress leader Tariq Anwar) ने कहा कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा पुराने और अनुभवी नेता हैं, गठबंधन में एकता बनी रहे इसलिए उन्होंने ऐसा कहा. अलायंस मजबूत करने के लिए लिए ऐसा बयान सराहनीय है. तारिक अनवर ने कहा कि महागठबंधन के साथ चुनाव लड़ने के लिए वामदलों से हमलोगों की बातचीत जारी है. पिछले चुनाव में भी हमारे सहयोगी दलों के तौर पर चुनाव लड़ा था, इस बार भी हमलोग सब साथ में चुनाव लडेंगे.

वहीं उपेंद्र कुशवाहा के इस बयान पर राजद नेता जयप्रकाश यादव ने कहा कि महागठबंधन का एक मात्र लक्ष्य एनडीए को हराना है. सभी घटक दल पूरी तरह एकजुट हैं.  उपेंद्र कुशवाहा हमारे अलायंस के प्रमुख नेता हैं और विधानसभा चुनाव में सम्प्रदायिक शक्तियों को हराने के लिए हमलोग कटिबद्ध हैं.  डबल इंजन की सरकार ज्यादा दिनों तक सत्ता में नहीं रहेगी.

गौरतलब है कि कुशवाहा की लाचारगी ऐसी दिख रही है कि गुरुवार को उपेंद्र कुशवाहा ने आरजेडी (RJD) चीफ लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से सीट बंटवारे को लेकर गुहार लगानी पड़ी. पटना में एक प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने अपनी पीड़ा जाहिर करते हुए कहा कि गठबंधन में अभी कई बातों पर स्पष्टता नहीं है इसलिए लालू प्रसाद खुद आगे आकर सब बातों पर स्थिति साफ करें.



उन्होंने कहा कि गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी है इसलिए जिम्मेदारी भी उसकी अधिक है. ऐसे में  उन्हें ही आगे आकर सबकुछ ठीक करना होगा. उन्होंने कहा कि कुछ अंदर की बातें हैं जिसे बताना ठीक नहीं है. गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के महागठबंधन से अलग होने के बाद ऐसा माना रहा था कि रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को अब अधिक तरजीह मिलने लगेगी. लेकिन, लगता है कि उन्हें अब भी कोई खास तवज्जो नहीं मिल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading