उपेंद्र कुशवाहा की होगी 'घर वापसी', होली के पहले मिलेंगे दिल! पढ़ें इनसाइड स्टोरी

2019 
लोकसभा चुनाव से पहले उपेंद्र कुश्वाहा ने NDA से नाता तोड़ा लेकिन सफलता नहीं मिली.

2019 लोकसभा चुनाव से पहले उपेंद्र कुश्वाहा ने NDA से नाता तोड़ा लेकिन सफलता नहीं मिली.

आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने पिछले सप्ताह ही जेडीयू में अपनी पार्टी के विलय के संकेत दे दिए थे. सूत्रों के मुताबिक, 14 मार्च को आरएलएसपी का विलय जेडीयू में हो सकता है. सियासी जमीन पर कुशवाहा ने हर पिच पर खेला, हर खिलाड़ी के साथ जोड़ी बनाई लेकिन नीतीश जैसा न तो दोस्त मिला न ही जोड़ीदार.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 11:11 AM IST
  • Share this:
पटना. 'जेडीयू से कब बाहर निकला, और नीतीश कुमार से कब मैं अलग था' ये बयान देकर आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के दिल की बात जुबां पर आ गई है. सियासत के 'स' ताल्लुक रखने वाले समझ चुके हैं कि कुशवाहा क्या चाहते हैं. कहते हैं कि सियासत में कुछ भी हो सकता है क्योंकि मतभेद में गुंजाइश बनी रहती है, मनभेद में गुंजाइश थोड़ी कम रहती है. उपेंद्र कुशवाहा का नीतीश से मतभेद था, मनभेद नहीं. बहुत दिनों तक अपने दोस्त से जुदा होने के बाद अब वो दोस्त के गले लगने को बेकरार हैं. होली दहलीज पर है और कहते हैं न कि होली में हर गिले शिकवे दूर हो जाते हैं. लोग हर पुरानी बात को भूलकर एक दूसरे के गले लगते हैं. बस इसी बात तो उपेंद्र कुशवाहा चरितार्थ करने जा रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, 14 मार्च को आरएलएसपी का विलय जेडीयू में हो सकता है.

नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा को हमेशा से सम्मान दिया है. 2004 में कुशवाहा को नेता प्रतिपक्ष बनाकर ये संदेश दिया कि उपेंद्र उनके दिल के कितने करीब हैं. 2010 में राज्यसभा भेजा तो फिर से अपने बड़प्पन का परिचय नीतीश कुमार ने दिया. उपेंद्र का लक्ष्य था कि नीतीश के समानांतर खड़ा होना. मानव श्रृंखला हो या फिर शिक्षा या सामाजिक कुरितियां, हर मुद्दे पर उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश के विरोध में अपनी राजनीतिक दीवार मजबूत करने की कोशिश की. हालांकि, हर बार नाकामी हाथ लगी. नीतीश से सियासी दुश्मनी के चक्कर में उनकी पार्टी में न कोई विधायक बचा और न ही कोई सांसद. यहां तक कि वो खुद भी संसद और विधानसभा के परिसर से दूर हो गए.

1985 में कुशवाहा ने ली थी सियासत में एंट्री

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज