बिहार में गुणवत्तापूर्ण शिक्षकों का अभाव, नियुक्ति के लिए बने BPSC जैसी संस्था: उपेन्द्र कुशवाहा

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अयोग्य शिक्षकों के कारण शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं. इनकी पहचान कर उन्हें किसी अन्य विभागों में स्थानान्तरित किया जाना चाहिए.

News18 Bihar
Updated: November 9, 2018, 5:12 PM IST
बिहार में गुणवत्तापूर्ण शिक्षकों का अभाव, नियुक्ति के लिए बने BPSC जैसी संस्था: उपेन्द्र कुशवाहा
उपेंद्र कुशवाहा ( न्यूज 18 फोटो)
News18 Bihar
Updated: November 9, 2018, 5:12 PM IST
केन्द्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने बिहार में शिक्षकों की गुणवत्ता पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि बीते कुछ वर्षों में शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया में खामिया सामने आई हैं. इस कारण अयोग्य शिक्षक भी नियुक्त कर लिए गए हैं. उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षक नियुक्ति के लिए BPSC जैसी संस्था बनानी चाहिए जिससे योग्य शिक्षकों की नियुक्ति हो सकेगी.

पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि अयोग्य शिक्षकों के कारण शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं.  उन्होंने बताया कि कई ऐसे स्कूल और कॉलेज हैं जहां शिक्षक आते ही नहीं, ऐसे में पढ़ाई भी पूरी नहीं हो पाती है. उन्होंने कहा कि इनकी पहचान कर उन्हें किसी अन्य विभागों में स्थानान्तरित किया जाना चाहिए

ये भी पढ़ें- नीतीश कुमार के बयान से दुखी उपेंद्र कुशवाहा, अमित शाह को लिखी चिट्ठी

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उनका ध्यान शिक्षा व्यवस्था में सुधार पर है और वे इसे करके रहेंगे. उन्होंने कहा कि राज्य की शिक्षा के संदर्भ में हमारी जो मांगें हैं उसे स्वीकार करे राज्य सरकार. उन्होंने बताया कि 28 नवंबर को महात्मा फूले का जन्मदिवस है. इस दिन ‘शिक्षा सुधार- जन जन का अधिकार’, कार्यक्रम का आगाज होगा. उन्होंने जानकारी दी कि इसके तहत बिहार के तमाम जिला मुख्यालयों में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा.

ये भी पढ़ें - बीजेपी-एलजेपी से हमारा गठबंधन कायम, जेडीयू से कोई बात नहीं: उपेन्द्र कुशवाहा

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि ज्योतिबा फूले को देश-दुनिया सामाजिक सुधार के पुरोधा के तौर पर देखती है. उनकी कोशिश थी कि किसी भी क्षेत्र में ऊंच-नीच का भेद खत्म हो. इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए आगे कार्य किया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार सामाजिक गैर बराबरी दूर करने के लिए तमाम पहल कर रही है.

ये भी पढ़ें - 
Loading...
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर