लाइव टीवी

पहले कान काटा और फिर कर दी रिटायर्ड होमगार्ड की हत्या, 25 दिन में परिवार के 3 लोगों का कत्ल
Patna News in Hindi

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: January 27, 2020, 5:19 PM IST
पहले कान काटा और फिर कर दी रिटायर्ड होमगार्ड की हत्या, 25 दिन में परिवार के 3 लोगों का कत्ल
25 दिनों में एक ही परिवार के 3 लोगों की हत्या से गुस्साए लोगों ने हंगामा किया.

मृतक के परिजनों ने बताया कि एक दिन पहले तीन युवक खेत में काम कराने के लिए बुलाकर ले गए थे. पहले 2 जनवरी को इसी परिवार की महिला गीता देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी.

  • Share this:
पटना. पिछले 25 दिनों में एक ही परिवार के 3 लोगों की हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. सोमवार को जब इसी परिवार के तीसरे शख्स रिटायर्ड होमगार्ड जवान की हत्या कर दी गई तो आक्रोशित लोगों ने गौरीचक में जमकर हंगमा किया. गुस्साए लोग हत्यारों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे. रिटायर्ड होमगार्ड जवान मुंदारिक राम की उम्र करीब 70 साल थी.

बताया जा रहा है कि अपराधियों ने पहले कान काटा और फिर बेरहमी से छुरा मारकर हत्याकर दी.  मृतक के परिजनों ने बताया कि एक दिन पहले तीन युवक खेत में काम कराने के लिए बुलाकर ले गए थे. पहले 2 जनवरी को इसी परिवार की महिला गीता देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. महिला की हत्या के बाद हत्त्यारों का हथियार लहराते वीडियो भी ग्रामीणों ने पुलिस को दिखाया था. आरोप है कि हत्त्यारे खुलेआम घूमते रहे और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रह गई.

गौरतलब है कि बीते 6 जनवरी से इसी परिवार के अजय राम लापता हो गए थे. अजय राम अपने मालिक अरुण सिंह के घर काम करने कहकर घर से निकले और 12 दिन बाद पुलिया के नीचे पानी से भरे गड्ढे में उसकी लाश मिली थी. सोमवार को अजय राम का दशकर्म था और इसी दौरान मुंदारिक राम की हत्या हो गई.

पुलिस पर लगे हत्यारों से मिले होने के आरोप

परिजनों का आरोप है कि गौरीचक थाना पुलिस हत्यारों से मिली हुई है. पच्चीस दिनों में  एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या हो गयी और पुलिस कुछ खास नहीं कर पाई है. लगातार हत्या की वारदात से आक्रोशित ग्रामीणों ने रिटायर्ड होमगार्ड जवान मुंदारिक राम की लाश को उठाने से पुलिस को रोक दिया और गौरीचक थाना पुलिस को मौके से ग्रामीणों ने खदेड़ भी दिया.

इसके बाद गोपालपुर पुनपुन धनरुआ थाना पुलिस के साथ सदर एएसपी किरण जाधव पहुंचे. आक्रोशित महिलाओं ने एएसपी को घेरा और पुलिस की लापरवाही, गश्ती नहीं होने, हत्त्यारों से मिलीभगत का गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर खरी खोटी सुनाई. हालांकि समझाने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

हत्यारोपी के घर में जा घुसा पुलिस का डॉगइससे पहले पुलिस ने डॉग स्क्वॉयड बुलाकर जांच पड़ताल की तो डॉग हत्या के आरोपी जलधर महतो के घर जा घुसा, जिससे ग्रामीणों और परिजनों का आरोप सही प्रतीत हो रहा था. बताया जा रहा है कि हत्यारोपी वारदात के बाद से ही फरार हो चुके हैं. हालांकि पुलिस का दावा है कि उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

25 दिनों में एक ही परिवार के 3 लोगों की हत्या से गमगीन परिजन


महिलाओं और ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए एएसपी ने आश्वासन दिया है कि तीन दिनों के अंदर हत्त्याकांड में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार किया जाएगा. एएसपी ने कहा कि परिजन जैसा बता रहे हैं कि तीन हत्याएं एक ही  परिवार के सदस्यों की  हुई है तो पुलिस विवाद का पता लगाने में जुटी है.

पुलिस पर लापरवाही का आरोप
एएसपी की मानें तो रिटायर्ड होमगार्ड जवान की हत्या में दो संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. मुखिया पति राजद नेता द्वारिका पासवान ने कहा कि केवल और केवल पुलिस की लापरवाही से ही एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या हो गयी. अगर पुलिस सजग रहती तो एक हत्या के बाद दो लोगों की जान बच सकती थी.

उन्होंने परिवार की गरीबी हालत को देखते हूए सरकारी नौकरी के साथ उचित मुआवजा देने सहित अन्य हत्त्यारों की जल्द गिरफ्तारी करने की मांग की है. साथ ही  गौरीचक थानेदार रमन कुमार को निलंबित कर हटाने की मांग भी की है.

ये भी पढ़ें--

शरजील पर एकजुट हुईं सियासी पार्टियां, कहा- देशद्रोहियों पर लें सख्त एक्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 3:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर