बिहार चुनाव में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की एंट्री, जानें क्यों नीतीश पर हमले के दौरान तेजस्वी ने लिया नाम?

तेजस्वी यादव ने डोनाल्ड ट्रंप का नाम लेकर विशेष राज्य के मुद्दे पर नीतीश कुमार पर हमला बोला
तेजस्वी यादव ने डोनाल्ड ट्रंप का नाम लेकर विशेष राज्य के मुद्दे पर नीतीश कुमार पर हमला बोला

तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा अभी तक नहीं मिला है. इसके लिए संघर्ष करेंगे. उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) तो अमेरिका से आकर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दे देंगे.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महागठबंधन (Grand alliance) में शामिल दलों ने संयुक्त घोषणा पत्र (Common manifesto ) जारी कर दिया है. इसको लेकर आयोजित प्रेस वार्ता में नेता प्रतिपक्ष व अलायंस के नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने 'प्रण हमारा संकल्प बदलाव का' टैग लाइन के साथ घोषणापत्र की मुख्य बातें मीडिया से साझा कीं. इस मौके पर तेजस्वी ने बिहारवासियों को नवरात्रि की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नवरात्रि (Navratri) का पहला दिन है और आज हम लोग कलश का स्थापना कर संकल्प लेते हैं. हमने भी अपने घर में कलश की स्थापना की है और संकल्प लिया है. 'प्रण हमारा संकल्प बदलाव का' ये सच होने वाला है. हमने संकल्प लिया है कि अगर हमारी सरकार बनती है तो हम पहली कैबिनेट (Cabinet) में पहली कलम से 10 लाख लोगों को नौकरी देंगे.

तेजस्वी यादव ने यह ऐलान भी किया कि इंटरव्यू में जाने के लिए अभ्यर्थियों को किराया भी दिया जाएगा. इसके साथ ही कर्पूरी श्रम केंद्र पूरे देश मे खोलेंगे. नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन देंगे. पुल पुलिया पूरे बिहार में दुरुस्त करेंगे. हमारी सरकार ने तय किया था बिहटा में एयरपोर्ट बनेगा. बिजली के क्षेत्र में बिहार में उतना उत्पादन नहीं है, बिजली खरीद कर सरकार बेचती है, लेकिन हमारा जोर उत्पादन पर होगा.

तेजस्वी ने कहा कि किसानों के कृषि ऋण माफ करेंगे. जीविका दीदी को नियमित वेतन और राशि बढ़ाएंगे. बंद चीनी मिलों को खोलेंगे. बेरोजगारी दूर करने की दिशा में कदम बढ़ाएंगे. अब तक बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिला है, इसके लिए संघर्ष करेंगे. उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प तो अमेरिका से आकर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दे देंगे.



तेजस्वी ने कहा कि लोग वेतनमान को लेकर सरकार से बेहद नाराज हैं. नीतीश सरकार के कार्यकाल में बिहार में 60 घोटाले हुए हैं. चारों ओर भ्रष्ट्राचार है, लॉ एंड ऑर्डर खराब है. मुझे पूरा विश्वास है कि जो बिहार की जनता के सामने हम लोगों ने जो संकल्प लिया है उसपर जनता विचार करेगी.
इस मौके पर भाकपा माले के शशि ने कहा कि लाखों की संख्या में आशा बहने जीविका दीदी समेत उन तमाम संविदा पर बहाल लोगों को स्थायी करने की पहल की जाएगी और उन्हें नियमित वेतन दिया जाएगा. गरीबों को उजाड़ा नहीं जाएगा. बिहार में हाथरस जैसी घटना नहीं होगी. नीतीश जी के कैबिनेट में मुजफ्फरपुर जैसे बालिका गृह कांड के आरोपी बैठते हैं, हमारे में ऐसा नहीं होगा.

वहीं, सीपीआई के राम बाबू कुमार ने कहा कि ये इतिहास के कोर्स कनेक्शन का चुनाव है. बिहार की जनता ने तो 2015 में ही NDA की सरकार को बाहर कर दिया था. मै समझता हूं तेजस्वी यादव जी के नेतृत्व में हम लोग नई बिहार बनायेंगे. सीपीएम के अरुण मिश्रा ने कहा कि  नीतीश कुमार ने  उम्दा तरीके से BJP के लिये बिहार में जमीन तैयार की है.

दूसरी ओर महागठबन्धन के घोषणा पत्र पर जदयू कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा कि 15 वर्षो तक अखण्ड भ्रष्टाचार में डूबे रहे. जिनकी उम्र अभी परिपक्व नहीं हुई है उनके पास हजारों करोड़ की सम्पत्ति है. प्रदेश की जनता देख रही है वादा करके दोबारा सत्ता में क्यों आना चाहते हैं. प्रदेश की सामाजिक समरसता को तोड़ने के लिए या करप्शन लाने के लिए जनता आपको वोट दे. घोषणा तो कुछ भी कर सकते हैं. आपको मिला था तो आपने क्या किया, नीतीश कुमार ने करके दिखाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज