Home /News /bihar /

Bihar: आयुष चिकित्सकों के लिए खुशखबरी, 3270 पदों पर जनवरी में होगी नियुक्ति

Bihar: आयुष चिकित्सकों के लिए खुशखबरी, 3270 पदों पर जनवरी में होगी नियुक्ति

जनवरी तक आयुष चिकित्सकों के नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

जनवरी तक आयुष चिकित्सकों के नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

Vacancy In Bihar: डॉक्टरों की कमियों से जूझ रहे बिहार के अस्पतालों में लगातार बहाली की प्रक्रिया जारी है और एलोपैथ के बाद अब आयुष के लिए भी सरकार ने नियुक्ति की प्रक्रिया में तेजी लाने का प्रयास शुरू कर दिया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि राज्य में जनवरी 2022 तक 3270 आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति कर ली जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के आयुष चिकित्सकों के लिए खुशखबरी है. अब जल्दी ही राज्य के सरकारी अस्पतालों में आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति होने वाली है. दरअसल डॉक्टरों की कमियों से जूझ रहे बिहार के अस्पतालों में लगातार बहाली की प्रक्रिया जारी है और एलोपैथ के बाद अब आयुष के लिए भी सरकार ने नियुक्ति की प्रक्रिया में तेजी लाने का प्रयास शुरू कर दिया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने जानकारी देते हुए कहा कि राज्य में जनवरी 2022 तक 3270 आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति कर ली जाएगी और मरीजों का देसी चिकित्सा में भी बेहतर इलाज हो सकेगा. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग प्रदेश में देसी चिकित्सा पद्धति को विकसित करने का लगातार प्रयास कर रही है. साथ ही आयुष अस्पतालों की स्थिति को सुधारने के लिए भी कवायद भी चल रही है, तभी तो देसी चिकित्सा कॉलेज और अस्पतालों को सुदृढ़ किया जा रहा है.

मंगल पांडेय ने कहा कि आयुर्वेदिक, यूनानी और होम्योपैथिक चिकित्सकों की 3270 पदों पर नियुक्ति के लिए अधियाचना बिहार तकनीकी सेवा आयोग को भेजी गयी थी जिसके बाद आयोग द्वारा नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. कुल 3270 पदों में से 50 फीसदी यानि 1635 पर आयुर्वेद, 30 फीसदी यानि 981 पर होमियोपैथी और 20 फीसदी यानि 654 पदों पर यूनानी चिकित्सक नियुक्त किये जाएंगे.

आयुष चिकित्सा के प्रति बढ़ा रुझान
सरकार का मानना है कि राज्य सरकार के प्रयासों से प्रदेश में आयुष चिकित्सा के प्रति भी लोगों का आकर्षण बढ़ा है. हालांकि राज्य आयुष समिति की रिपोर्ट भी इस बात की तस्दीक करती है कि प्रदेश के लोग एलोपैथी के साथ-साथ आयुष चिकित्सा को एक बेहतर विकल्प के रूप में देख रहे हैं. मंगल पाण्डेय की माने तो आयुष चिकित्सा के विकास-विस्तार और इसकी सुविधा जन-जन तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है.

नियुक्ति होने से लोगों को मिलेगा लाभ
वर्तमान में राज्य के अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में कुल 1384 आयुष चिकित्सकों का चयन कर नियोजन किया गया है जिसमें आयुर्वेदिक के 704, होमियोपैथी के 428 व यूनानी के 252 चिकित्सक हैं. 3270 नियमित आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति होने से राज्य के लोग और बेहतर तरीके से अपना देसी चिकित्सा पद्धति से उपचार करा सकेंगे और इन चिकित्सकों की नियुक्ति आयुर्वेदिक, होमियोपैथिक और यूनानी चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल के साथ-साथ अन्य अस्पतालों में की जाएगी.

Tags: Appointment, Ayurveda Doctors, Ayush Training, Bihar News, Mangal Pandey, PATNA NEWS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर