लाइव टीवी

कैश वैन से 70 लाख लूटकर बन गया था 'बड़ा नेता', आठ साल बाद पुलिस ने गुर्गे के साथ धर दबोचा
Patna News in Hindi

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: January 30, 2020, 8:10 AM IST
कैश वैन से 70 लाख लूटकर बन गया था 'बड़ा नेता', आठ साल बाद पुलिस ने गुर्गे के साथ धर दबोचा
वैशाली जिप उपाध्यक्ष पंकज ठाकुर ने आठ साल पहले कैश वैन से लूटा था 70 लाख, अब हुआ गिरफ्तार

आरोपी पंकज पर पटना (Patna) के शास्त्रीनगर नगर के अलावा हाजीपुर के नगर और सदर थाना, सोनपुर, हाजीपुर के लालगंज और चकिया थाना में करीब 20 संगीन मामले दर्ज हैं.

  • Share this:
पटना. आठ साल पहले हाजीपुर-छपरा (Hajipur-Chhapra) के बीच कैश वैन से 70 लाख रुपये लूटने और गार्ड को गोली मारकर घायल करने वाले फरार आरोपी पंकज ठाकुर को पटना पुलिस की विशेष टीम ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसे और उसके एक और सहयोगी को गांधी मैदान इलाके से धर दबोचा. पंकज मूल रूप से हाजीपुर के सदर थाना के इस्माइलपुर का रहने वाला है और वह 30 जून 2016 से वैशाली जिला परिषद का उपाध्यक्ष है.

गौरतलब है कि तीन महीने पहले पंकज और उसके गुर्गों ने मोतिहारी के चकिया में बंधक बैंक से 11 लाख नकद लूटने के साथ ही गार्ड से हथियार लूटकर फरार हो गया था. 25 जनवरी को रांची के लालपुर स्थित ज्वेलरी शॉप लूट के प्रयास में उसके पांच लुटेरे गिरफ्तार हुए थे. सूत्रों का कहना है कि इन्हीं के सुराग पर पटना और वैशाली पुलिस ने छापेमारी की और गांधी मैदान इलाके से पंकज गिरफ्तार कर लिया गया.

आरोपी पंकज पर 20 संगीन केस
आरोपी पंकज पर पटना के शास्त्रीनगर नगर के अलावा हाजीपुर के नगर थाना, हाजीपुर के सदर थाना, सोनपुर, हाजीपुर के लालगंज और चकिया थाना में करीब 20 संगीन मामले दर्ज हैं. इन सभी थानों की पुलिस उसे सरगर्मी से तलाश रही थी.

चकमा देकर बन गया जिप उपाध्यक्ष
चौंकाने वाली बात यह है कि साल 2012 में कैश वैन से लूट करने के बाद वह वर्ष 2016 में जिला परिषद का उपाध्यक्ष भी बन गया, पर पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी. यही नहीं हाजीपुर में उसके नाम पर कई पोस्टर लगे हैं, जिसमें वह नववर्ष की बधाई दे रहा है.

पुलिस की दबिश से पटना में छिपा था पंकजदरअसल, पंकज को गिरफ्तार करने के लिए हाजीपुर और अन्य जिलों की टीम उसके घर से लेकर उसके अड्‌डों पर छापेमारी कर रही थी. पंकज को इस बात की भनक लग गई थी कि पुलिस पीछे पड़ी है. सूत्रों के अनुसार, गिरफ्तारी की डर से वह पटना में आकर कहीं छिपा था. सूचना मिलने के बाद इसकी जानकारी पटना पुलिस को दी गई फिर 29 जनवरी को उसे और उसके एक और गुर्गे को दबोच लिया गया.

बड़ा लूटकांड करता रहा है पंकज 
पुलिस के अनुसार पंकज बैंक व कैश वैन से बड़ा लूटकांड करता है. विरोध करने पर गोली मारने में देर नहीं करता है. उसपर हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी, लूट, आर्म्स एक्ट समेत करीब 20 संगीन मामले दर्ज हैं. इधर पंकज से पूछताछ करने के लिए वैशाली जिले के वरीय पुलिस अधिकारी भी पटना पहुचे थे. पंकज की गिराफ्तारी से पुलिस ने चेन की सांस ली है.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 7:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर