Home /News /bihar /

नवादा रेप केस: RJD से निलंबित MLA राजबल्लभ यादव समेत 6 दोषी करार, 21 को सजा का ऐलान

नवादा रेप केस: RJD से निलंबित MLA राजबल्लभ यादव समेत 6 दोषी करार, 21 को सजा का ऐलान

राजबल्लभ यादव (फाइल फोटो)

राजबल्लभ यादव (फाइल फोटो)

वर्ष 2016 के फरवरी में एक नाबालिग से बलात्कार किए जाने के एक मामले में जून 2016 में निलंबित राजद विधायक राजबल्लभ यादव और अन्य आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए थे. इसमें लालू यादव के करीबी और आरजेडी के निलंबित विधायक राजबल्लभ यादव के अलावा 5 अन्य अभियुक्त बनाए गए थे.

अधिक पढ़ें ...
    नवादा बलात्कार कांड में सभी अभियुक्त दोषी करार दिए गए हैं. नाबालिग से दुष्कर्म के जुर्म में आरजेडी  से निलंबित विधायक राजबल्लभ यादव समेत अन्य अभियुक्तों के खिलाफ भी ये फैसला सुनाया गया है. पटना सिविल कोर्ट परिसर में स्थित एमपी-एमएलए कोर्ट ने आरजेडी से निलंबित विधायक के साथ अन्य 5 भी दोषी करार दिया है. मामले में  21 दिसम्बर को सजा सुनाई जाएगी.

    बीते 4 दिसंबर को हुई सुनवाई के बाद विशेष जज परशुराम सिंह यादव ने आरोपपत्र पर दोनों पक्षों की बहस के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था. गौरतलब है कि दोनों पक्षों की करीब चार महीने तक गवाही चली. अभियोजन की ओर से 22 और बचाव पक्ष की ओर से 15 गवाहों ने गवाही दी थी.

    ये भी पढ़ें-   जानिये तेजप्रताप यादव ने क्यों कहा, मैंने जीने का तरीका बदला है, तेवर नहीं

    आपको बता दें कि वर्ष 2016 के फरवरी में एक नाबालिग से बलात्कार किए जाने के एक मामले में जून 2016 में निलंबित राजद विधायक राजबल्लभ यादव और अन्य आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए थे.  इसमें लालू यादव के करीबी और आरजेडी के निलंबित विधायक राजबल्लभ यादव के अलावा संदीप सुमन उर्फ पुष्पंजय कुमार, राधा देवी, राधा की बेटी सुलेखा देवी, छोटी उर्फ अर्पिता और टिशु कुमार अभियुक्त बनाए गए थे.

    ये भी पढ़ें-   राम मंदिर पर NDA में खींचतान, JDU बोली, BJP नहीं ला सकती कोई अध्यादेश

    आपको बता दें कि बीते फरवरी 2016 में नालंदा की एक नाबालिग लड़की को नवादा ले जाकर दुष्‍कर्म किया गया था. दुष्कर्म की घटना नवादा में राजबल्लभ यादव के चार मंजिला मकान में हुई थी. इसके बाद  बिहारशरीफ महिला थाने में दुष्कर्म की प्राथमिकी 9 फरवरी 2016 को दर्ज हुई थी. लड़की ने इसका आरोप विधायक राजबल्‍लभ यादव पर लगायाथा.

    पुलिस ने मामले में आरोप पत्र 20 अप्रैल 2016 को दायर किया, जबकि अदालत ने संज्ञान 22 अप्रैल 2016 को लिया था. अदालत ने आरोपितों के खिलाफ 6 सितंबर 2016 को आरोप गठित किए थे. बिहारशरीफ कोर्ट में गवाही 15 सितंबर 2016 को शुरू हुई थी और बहस भी पूरी हो गई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश और एमपी-एमएलए कोर्ट के गठन के बाद सारे रिकॉर्ड ट्रायल के लिए पटना में विशेष अदालत को भेज दिए गए थे.

    ये भी पढ़ें- तीन साल से लापता अपने ही अफसर को आखिर क्यों नहीं ढूंढ पा रही बिहार पुलिस !

     

    Tags: Bihar News, Nawada jail, Nawada news, PATNA NEWS, Rape

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर