बिहार उपचुनाव में हुई 'सहानुभूति' की जीत

बिहार उपचुनाव दो सीटें महागठबंधन और एक सीट एनडीए के खाते में गई है. कई कारणों के साथ साथ इन उम्मीदवारों की जीत के पीछे सहानुभूति लहर भी एक बड़ा कारण माना जा रहा है.

Prem Ranjan | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: March 15, 2018, 12:21 PM IST
बिहार उपचुनाव में हुई 'सहानुभूति' की जीत
बिहार में सहानुभूति की जीत
Prem Ranjan | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: March 15, 2018, 12:21 PM IST
बिहार में तीन सीटों पर हुए उपचुनाव में अररिया और जहानाबाद से राजद और भभुआ से बीजेपी ने जीत हासिल की है. इन तीनों सीटों पर सहानुभूति फैक्टर महत्वपूर्ण माना जा रहा है. अररिया से राजद के सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के निधन से खाली सीट पर उनके बेटे सरफराज आलम को जनता से सिर आंखों पर बैठाया है. उन्होंने बीजेपी के प्रदीप सिंह को करीब 60 हजार वोटों से पराजित किया है.

सरफराज आलम जदयू के विधायक थे. चुनाव की घोषण के साथ ही उन्होंने जदयू से इस्तीफा देकर राजद के उम्मीदवार बन गए और जीत हासिल की. मोहम्मद तस्लीमुद्दीन को सीमांचल का 'गांधी' कहा जाता था और वो इस सीट कई बार सांसद रह चुके थे. सरफराज की जीत के पीछे सहानुभूति को भी बड़ा कारण माना जा रहा है.

इसी तरह भभुआ विधानसभा सीट से बीजेपी की रिंकी रानी पांडेय की जीत हुई है. उनके पति आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद ये सीट खाली हुई थी. काफी सालों की मेहनत के बाद आनंद भूषण पांडेय से 2015 विधानसभा चुनाव में इस सीट से विजयी हुए थे लेकिन कम उम्र में ही उनका निधन हो गया. इस चुनाव में रिंकी रानी पांडेय तमाम मुद्दों के साथ साथ पति के किये कामों को जोर शोर से उठा रही थी. चुनाव प्रचार के दौरान रिंकी अपने बच्चों को भी साथ रखती थी.

उधर, जहानाबाद विधानसभा सीट की भी कुछ ऐसी ही स्थिति है. इस सीट से राजद के कद्दावर नेता कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय कुमार ने जीत हासिल की है. मुंद्रिका यादव के निधन के बाद जहानाबाद सीट खाली हुई थी. राजद ने मुंद्रिका यादव के छोटे बेटे सुदय यादव को उम्मीदवार बनाया और उन्होंने राजद की उम्मीदों पर खड़ा उतरते हुए जीत हासिल की है. ऐसा माना जा रहा है कि एमवाई समीकरण के साथ मुंद्रिका यादव के काम और सहानुभूति के कारण सुदय यादव ने भारी मतों से जीत हासिल की है.

उधर, बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी ट्वीट कर कहा कि यह किसी का कोई कमाल नहीं. सहानुभूति का कमाल है. बिहार में लोगों ने परिवारों को जिता दिया।भभुआ में महगठबँधन का कमाल क्यों नहीं चला ?



ये भी पढ़ें-
उपचुनाव में मिली जीत पर लालू को ममता ने दी बधाई, लालू ने कहा- थैंक्स दीदी

बिहार इलेक्शन रिजल्ट : पहले से लिखी जा चुकी थी जहानाबाद में एनडीए की 'हार की स्क्रिप्ट'

LIVE Bihar By-Election Result (बिहार उपचुनाव परिणाम 2018): महागठबंधन के खाते में 2 और NDA के हिस्से में गई एक सीट

बिहार इलेक्शन रिजल्ट: अररिया में राजद के 'MY' समीकरण के आगे फेल हुआ बीजेपी का 'ISI कार्ड '
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर