Home /News /bihar /

धनरुआ पुलिस-पब्लिक भिड़ंत: पहले किसने बरसाई लाठी और किसने फेंके पत्थर, Viral Video देखें

धनरुआ पुलिस-पब्लिक भिड़ंत: पहले किसने बरसाई लाठी और किसने फेंके पत्थर, Viral Video देखें

पटना के धनरुआ में पुलिस-पब्लिक भिड़ंत का वीडियो वायरल हो रहा है.

पटना के धनरुआ में पुलिस-पब्लिक भिड़ंत का वीडियो वायरल हो रहा है.

Bihar News: पटना के मसौढी अनुमंडल के धनरूआ थाना क्षेत्र के मोरियामा में हुए बवाल का एक वीडियो ग्रामीणों के द्वारा लगातार वायरल किया जा रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि पुलिस गांव में पहुंचती है और उसी दौरान गांव में मौजूद लोगों पर लाठियां बरसानी शुरू कर देती है. हालांकि न्यूज़ 18 इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. मसौढी अनुमंडल के धनरूआ थाना क्षेत्र के मोरियामा गांव में चुनाव प्रचार रोकना पुलिस को भारी पड़ गया. चुनाव प्रचार को पहुंची पुलिस और ग्रामीणों में झड़प हो गयी. मामला इतना बढ़ गया कि जमकर रोड़ेबाजी व गोलीबारी भी होना शुरू हो गया. इसमें सर्किल इंस्पेक्टर राम कुमार प्रसाद के साथ लगभग 25 से अधिक पुलिस के जवान जख्मी हो गये. 3 ग्रामीण भी जख्मी हो गए. हालांकि ग्रामीणों के अनुसार गोली लगने से रोहित नामक 25 वर्षीय युवक की मौत की सूचना है. गोली किस ओर से लगी यह अभी तक कोई नहीं बता रहा है. पुलिस रोहित की मौत की भी पुष्टि नहीं कर रही है.

इस बीच पटना के मसौढी अनुमंडल के धनरूआ थाना क्षेत्र के मोरियामा में हुए बवाल का एक वीडियो ग्रामीणों के द्वारा लगातार वायरल किया जा रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि पुलिस गांव में पहुंचती है और उसी दौरान गांव में मौजूद लोगों पर लाठियां बरसाना शुरू कर देती है. जिसकी तस्वीर भी साफ नजर आ रही है. हालांकि न्यूज़ 18 इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन जो वीडियो सामने आ रहा है उसमें यही दिखाई दे रहा है कि पुलिस मौके पर मसौढ़ी सर्किल इंस्पेक्टर के नेतृत्व में गांव में पहुंची है और फिर ग्रामीणों की भीड़ को देखकर वहां लाठियां बरसानी शुरू कर दी. इस बात का विरोध ग्रामीणों ने करना शुरू कर दिया और ग्रामीणों ने भी पुलिस पर रोड़े बरसाने शुरू कर दिए.

ग्रामीणों का कहना है कि पहले पुलिसिया कार्रवाई हुई है जिसके बाद ग्रामीण उग्र हुए और  रोड़ेबाजी करने लगे. पुलिस अगर पहले लाठीचार्ज नहीं करती तो इतना बवाल नहीं होता. वीडियो में भी साफ देखा जा सकता है कि शुरुआत पुलिस की ओर से हुई है. हालांकि, पुलिस भी इस मामले में अपना बयान देकर ग्रामीणों पर ही यह आरोप मढ़ रहे हैं. मसौढ़ी सर्किल इंस्पेक्टर रामकुमार प्रसाद ने अपने बयान में कहा है कि ग्रामीण उग्र हो गये और रोड़ेबाजी करने लगे. इसके बाद पुलिसिया कार्रवाई हुई. लेकिन, तस्वीरें जो कह रही हैं उसमें यही लगता है कि पुलिस पहले कार्रवाई की और लाठियां भांजी, उसके बाद ग्रामीण उग्र हुए हैं.

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को धनरूआ के मोरियामा में पंचायत चुनाव को लेकर अंतिम दिन प्रचार प्रसार था, वहीं एक दल के लोग अपने समर्थक के साथ घुम रहे थे. जिसे दूसरे दलों के लोगों ने रोक दिया. इसी में विवाद हुआ था, जिसके बाद पुलिस को सूचना मिली थी. इसी मामले को पुलिस शिकायत पर सुलझाने को पहुंची हुई थी, जिसके बाद ग्रामीण पुलिस से ही उलझ गये.

बहरहाल, इस घटना के बाद आसपास के काफी तादाद में पुलिस बल के जवान गांव में पहुंच चुके हैं. वरीय पुलिस पदाधिकारी भी वहां कैम्प कर रहे हैं. धनरूआ के सर्किल इंस्पेक्टर रामकुमार प्रसाद भी जख्मी हैं. वहींं, शुक्रवार की देर रात तक गांव में तनाव बना हुआ था.

Tags: Bihar News, Crime In Bihar, PATNA NEWS, Police lathicharg, Stone pelting

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर