Bihar Election: बाहुबली अनंत सिंह बोले- 'तेजस्वी बनेंगे CM और नीतीश जाएंगे जेल', देखें Video

बिहार चुनाव से पहले बाहुबली अनंत सिंह राजद में शामिल हो गए. (फाइल फोटो)
बिहार चुनाव से पहले बाहुबली अनंत सिंह राजद में शामिल हो गए. (फाइल फोटो)

Bihar Assembly Election: निर्दलीय विधायक बाहुबली अनंत सिंह (Bahubali Anant Singh) जेल में रहते हुए आरजेडी के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़ने वाले हैं. कभी नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के सहयोगी के रूप में पहचाने जाने वाले अनंत, अब उनके खिलाफ बयान देते रहते हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के ऐलान के साथ ही सियासी मैदान में कई बाहुबली और आपराधिक इतिहास रखने वाले नेताओं की इंट्री हो गई है. इनमें सबसे ज्यादा चर्चित नाम है मोकामा विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह (Bahubali Anant Singh) का. पटना जिले के मोकामा और आसपास के इलाके में 'छोटे सरकार' के नाम से पहचाने जाने वाले अनंत सिंह, कभी नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के भरोसेमंद नेता माने जाते थे. लेकिन पिछले कुछ साल में दोनों के बीच तल्खियां इस कदर बढ़ चुकी हैं कि अब वे आरजेडी (RJD) में आ गए हैं. अपराध के कई मामलों को लेकर अनंत इन दिनों जेल की सजा काट रहे हैं, फिर भी उन्होंने चुनाव में उतरने का ऐलान कर दिया है.

राजद में इंट्री के साथ ही अनंत सिंह लगातार वर्तमान सरकार और नीतीश कुमार के खिलाफ हमला बोलते रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में अनंत सिंह का एक ताजा बयान फिर सुर्खियां बटोर रहा है. राजद की सदस्यता लेने और नीतीश कुमार से जुड़े सवाल पर अनंत सिंह ने दोटूक लहजे में कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आरजेडी की सरकार बनेगी. तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनेंगे और नीतीश कुमार जेल जाएंगे. वीडियो में अनंत सिंह यह कहते नजर आ रहे हैं कि उन्हें तेजस्वी यादव पर पूरा भरोसा है कि वे विधानसभा चुनाव में जीतकर बिहार के मुख्यमंत्री बनेंगे.





बता दें कि अनंत सिंह 2015 के चुनाव से पहले लगातार दो बार जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़कर विधायक बनते रहे हैं. लेकिन 2015 में पटना से सटे बाढ़ में हुए पुटुस हत्याकांड के बाद अनंत सिंह और नीतीश कुमार का नाता टूट गया. दरअसल, पुटुस हत्याकांड को लेकर तत्कालीन राजद-जेडीयू महागठबंधन सरकार पर सवाल उठने लगे थे. खासकर सरकार में शामिल राजद के सुप्रीमो लालू यादव की नाराजगी की वजह से अनंत सिंह को जेडीयू से निकाल दिया गया. इस वजह से 2015 के चुनाव में अनंत सिंह मोकामा से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़कर विधायक बने.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज