लाइव टीवी

बिहार: कई जगहों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है गंगा, गंडक, सोन व कमला बलान

News18 Bihar
Updated: September 20, 2019, 10:13 AM IST
बिहार: कई जगहों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है गंगा, गंडक, सोन व कमला बलान
बिहार की कई नदियों के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार ने गुरुवार को गंगा व गंडक नदियों का निरीक्षण किया.

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार गंगा बिहार में बक्सर, पटना जिला के दीघाघाट, गांधीघाट, हाथीदह एवं मनेर, भागलपुर जिला के कहलगांव में खतरे के निशान से उपर बह रही है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 20, 2019, 10:13 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार की कई नदियों में जल स्तर (Water Level) में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. खास तौर पर गंगा और गंडक (Ganga and Gandak) का जलस्तर कई जगहों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है. आपदा प्रबंधन विभाग (Disaster Management Department) के अनुसार अगर यही ट्रेंड बना रहा तो कई इलाकों में बाढ़ का पानी घुस सकता है. यही कारण है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने गुरुवार को गंगा और गंडक नदियों के जलस्तर का निरीक्षण किया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए.

मुख्य सचिव करेंगे बैठक
बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक होने जा रही है जिसमें आपदा प्रबंधन समेत कई अन्य विभाग के अधिकारी शामिल रहेंगे. इसमें प्रदेश में बाढ़ की स्थिति पर भी विमर्श किया जाएगा. हालांकि इस बैठक में सूबे के कई जिलों में सूखे की समस्या की भी समीक्षा की जाएगी.

गंगा में जबरदस्त उफान

राज्य में अधिकांश नदियां उफान पर हैं और बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं. इस बीच केंद्रीय जल आयोग के अनुसार गंगा बिहार में बक्सर, पटना जिला के दीघाघाट, गांधीघाट, हाथीदह एवं मनेर, भागलपुर जिला के कहलगांव में खतरे के निशान से उपर बह रही है.

बाढ़ की आशंका से दहशत
केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार गंगा नदी पटना जिले के गांधीघाट में 88 सेमी, दीघाघट में 20 सेमी, हाथीदह में 65 सेमी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.  वहीं, यह बक्सर में 40 सेमी, मुंगेर में 51 सेमी, भागलपुर में 43 सेमी, कहलगांव में 31 सेमी, साहेबगंज में 25 सेमी, फरक्का में 39 सेमी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.
Loading...

सोन नदी में भी उफान
सोन नदी में भी जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. यह मनेर में खतरे के निशान से 58 सेमी, घाघरा दरौली में 8 सेमी, गंगपुर सिसबंन में 9 सेमी, गंडक खड्डा में 56 सेमी, डुमरिया घाट में 35 सेमी, रेवा घाट में 85 सेमी ऊपर बह रही है. जबकि बूढ़ी गंडक खगड़िया में 42 सेमी, बागमती ढेंग ब्रिज में 50 सेमी, रुन्नी सैदपुर में 251 सेमी, बेनीबाद में 20 सेमी,  खतरे केनिशान से ऊपर बह रही है.

कमला बलान भी खतरे के निशान से ऊपर
कमला बलान नदी जयनगर में 65 सेमी, झंझारपुर में 119 सेमी, कोसी बसुआ में 27 सेमी, खगड़िया के बलतारा में 98 सेमी, कुरसेला में 41 सेमी, महानंदा देंघराघाट में 21 सेमी, झवा मव 18 सेमी और परमान नदी अररिया में खतरे के निशान से 18 सेमी ऊपर बह रही है.

इनपुट- कुलभूषण

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 10:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...