लाइव टीवी

शहर के बीचोंबीच बन गया 'डेंगू का तालाब', दहशत में हैं पटना की 3000 छात्राएं

News18 Bihar
Updated: October 22, 2019, 4:43 PM IST
शहर के बीचोंबीच बन गया 'डेंगू का तालाब', दहशत में हैं पटना की 3000 छात्राएं
पटना वीमेंस कॉलेज परिसर में जलजमवा से डेंगू मच्छरों का फैलाव हो रहा है.

वीमेंस कॉलेज के ठीक बगल में माउंट कारमेल गर्ल्स स्कूल भी है. इसमें सैकड़ों बच्चियां पढ़ती हैं. डेंगू का डर ना सिर्फ कॉलेज की छात्राओं को बल्कि कारमेल स्कूल के बच्चों को भी इसका डर बना हुआ है.

  • Share this:

पटना. राजधानी पटना के बीचोबीच एक ऐसा तालाब है जो लगभग 3000 छात्राओं की दहशत का कारण है. सुनने में थोड़ा अजीब भले ही लगता हो पर यह सच है कि पटना का सबसे पॉश इलाके में डेंगू (Dengue) फैलाने वाला तालाब बना हुआ है. सबसे खास ये कि ये वो जगह है जहां से पटना हाई कोर्ट (Patna High Court) की दूरी महज कुछ मीटर ही है. यहां से पूरे बिहार का प्रशासन संचालित करने वाले सचिवालय की दूरी बमुश्किल एक किलोमीटर भी नहीं. यह पटना का मशहूर वीमेंस कॉलेज (Patna Womens College) का खेल परिसर है जहां आज भी तालाब की शक्ल में गंदे पानी का जलजमाव है.


कॉलेज आने से घबराने लगी हैं छात्राएं


इसे डेंगू का तालाब इसलिए कहा जाने लगा है कि पटना वीमेंस कॉलेज के हॉस्टल में रहने वाली कई छात्राओं को अब तक डेंगू हो चुका है. यहां क्लास करने वाली लड़कियों में डेंगू को लेकर इस कदर दहशत है कि कॉलेज आने से घबराने लगी हैं.



Loading...

पटना वीमेंस कॉलेज में 3 हजार से अधिक छात्राएं पढ़ती हैं.


27 से 29 सितंबर के बीच हुई थी भारी बारिश
दरअसल बीते 27 से 29 सितंबर के बीच हुई भारी बारिश के बाद हुए जलजमाव के 24 दिन गुजर जाने के बाद भी पटना वीमेंस कॉलेज से पानी नही निकाला गया है. तालाब के रूप में जमा यह पानी इतने दिनों में पूरी तरह सड़ चुका है. हालत ऐसी है कि जमा पानी से बदबू आ रही है.


कॉलेज में पढ़ती हैं 3000 से अधिक छात्राएं

मास कम्युनिकेशन की छात्रा रश्मि का कहना है कि अब तक उसके क्लास में 4 लड़कियों को डेंगू हो चुका है जिस कारण कॉलेज आने में डर लगता है. पटना वीमेंस कॉलेज में 3 हजार से ज्यादा लडकियां पढ़ती हैं और हर दिन लड़कियां इसी तालाब के बगल से गुजरने पर मजबूर है. कॉलेज में घुसने के साथ ही सबसे यह लगता है कि कही डेंगू न हो जाए.
बच्चियों पर भी मंडरा रहा डेंगू का खतरा!

वीमेंस कॉलेज के ठीक बगल में माउंट कारमेल गर्ल्स स्कूल भी है. इसमें सैकड़ों बच्चियां पढ़ती हैं. डेंगू का डर ना सिर्फ कॉलेज की छात्राओं को बल्कि कारमेल स्कूल के बच्चों को भी इसका डर बना हुआ है.

ग्रेजुएशन कर रही श्वेता सवाल पूछती है कि राजेन्द्र नगर में कमर से ज्यादा पानी जमा था, जब उसे निकाला जा चुका है तो फिर कॉलेज से गंदे पानी को क्यों नहीं निकाला जा रहा है?


खेल प्रतियोगिता पर भी लग सकता है 'ग्रहण'

जलजमाव से नाराज स्नातक की ही छात्रा शिल्पी का कहना है कि थोड़े दिनों के बाद कॉलेज में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता आयोजित होनी है. अगर पानी नहीं निकाला गया तो खेलकूद प्रतियोगिता होना मुश्किल है. साल भर छात्रों को इस प्रतियोगिता का इंतजार रहता है. पटना नगर निगम की इस लापरवाही पर छात्राओं में आक्रोश है.



पटना वीमेंस कॉलेज में जलभराव पर नगर निगम प्रशासन ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.


छात्राएं पूछ रहीं शासन से सवाल
छात्राओं का आरोप है कि नगर निगम सिर्फ दावा कर रहा है. सभी जगहों से पानी निकाला जा रहा है पर पटना वीमेंस कॉलेज की हालत देखने वाला कोई नहीं. हालांकि पटना नगर आयुक्त अमित पांडेय ने आश्वासन दिया कि उन सभी जगहों से, जहां पानी अभी तक नहीं निकाला जा सका है उसकी लिस्ट तैयार हो रही है. जल्द ही सभी जगह से पानी निकाल दिया जाएगा.


पटना वीमेंस कॉलेज के बीचोबीच बने डेंगू का यह तालाब कॉलेज छात्राओं के लिए खतरा बन गया है. अगर समय रहते यहां से जलजमाव नहीं हटाया गया तो समस्या ज्यादा गंभीर बन सकती है. जरूरत है नगर निगम तत्काल कार्रवाई करे ताकि डेंगू मच्छरों के फैलाव पर रोक लग सके.


(पटना से रवि एस नारायण की रिपोर्ट)


ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 4:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...