• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार में लव-कुश समीकरण! आखिर उपेंद्र कुशवाहा की कब होगी JDU में एंट्री?

बिहार में लव-कुश समीकरण! आखिर उपेंद्र कुशवाहा की कब होगी JDU में एंट्री?

उपेंद्र कुशवाहा. (File)

उपेंद्र कुशवाहा. (File)

Bihar Politics: विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद उपेन्द्र कुशवाहा ने दो बार नीतीश कुमार से मुलाकात की थी लेकिन बात नहीं बन पाई. तीसरी बार वशिष्ठ नारायण सिंह ने नीतीश और उपेन्द्र के बीच सेतु का काम किया. अब बात लगभग फाइनल स्टेज में पहुंचती दिख रही है.

  • Share this:

पटना. बिहार में नीतीश कुमार के लव-कुश समीकरण को उपेन्द्र कुशवाहा परवान कब चढ़ाएंगे, इस लाख टके के सवाल का जवाब बिहार की सियासत में खोजा जा रहा है. विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद से नीतीश कुमार और उपेन्द्र कुशवाहा की तीन बार मुलाकात हो चुकी है, बावजूद इसके कुशवाहा ने नीतीश कुमार के साथ आने के फैसले पर कोई ठोस जवाब नहीं दिया है. NEWS 18 के सूत्रों को मिली जानकारी के मुताबिक, नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा को उचित सम्मान देने का भरोसा दिलाया है. कुशवाहा ने भी नीतीश कुमार को लगभग रजामंदी दे दी है. इस रजामंदी के पीछे जिस शख्स की सबसे बड़ी भूमिका मानी जा रही है वो हैं बिहार JDU के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह.

उपेन्द्र कुशवाहा ने दो बार पहले भी नीतीश कुमार से मुलाकात की थी लेकिन तब पूरी बात नहीं बन पाई थी लेकिन तीसरी बार वशिष्ठ नारायण सिंह ने नीतीश और उपेन्द्र के बीच सेतु का काम किया. अब बात लगभग फाइनल स्टेज में पहुंचती दिख रही है. वशिष्ठ नारायण सिंह से जब सवाल पूछा गया कि उपेन्द्र
कुशवाहा जेडीयू के साथ कब तक आएंगे तो उन्होंने बहुत विश्वास के साथ कहा कुछ दिनों की बात है, बहुत जल्द वह हम लोगों के साथ होंगे.

दरअसल, सूत्र बताते हैं कि कुशवाहा की चिंता अपने भविष्य को लेकर तो है ही, साथ ही अपने पुराने वफादार लोगों का समायोजन कैसे हो, इसका भी वो वादा पहले चाहते हैं. सूत्र ये भी बताते हैं कि कुशवाहा को बोला गया है कि आपके भविष्य की राजनीति की चिंता का पूरा ख्याल रखा जाएगा. साथ ही उनके वफ़ादारों क भी ख्याल रखा जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक, आने वाले कल के सुनहरे भविष्य की तस्वीर भी उपेन्द्र कुशवाहा को दिखाई गई है. उन्हें ये भी बताया गया है कि जेडीयू के पुराने समीकरण लव-कुश समीकरण में उनका कितना खास महत्व होने वाला है. उपेन्द्र कुशवाहा के वशिष्ठ नारायण सिंह से पुराने संबंध रहे हैं और यही वजह है कि कुशवाहा ने नीतीश कुमार से नजदीकी के लिए उनका सहारा लिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज