बिहार में 'बिग ब्रदर' कौन ? NDA और महागठबंधन के दलों में बढ़ी तकरार

News18 Bihar
Updated: December 12, 2018, 2:38 PM IST
बिहार में 'बिग ब्रदर' कौन ? NDA और महागठबंधन के दलों में बढ़ी तकरार
बिहार के सियासी दलों में 'बिग ब्रदर' पॉलिटिक्स

एक ओर जहां बीजेपी और जेडीयू में खींचतान है, वहीं आरजेडी और कांग्रेस में 'बिग ब्रदर' पर रार बढ़ गई है. दोनों ही गठबंधन दलों के बीच बयानबाजियों का सिलसिला भी शुरू हो गया है. महागठबंधन में 'बड़ा भाई' बनने की होड़ कुछ अधिक ही दिख रही है.

  • Share this:
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम में तीन राज्यों में बीजेपी के हाथ से सत्ता निकल गई. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के हाथों बीजेपी की हार ने गठबंधन की राजनीति पर भी असर दिखाना शुरू कर दिया है. विशेषकर बिहार में राजनीतिक दलों के बीच खुद को 'बिग ब्रदर' साबित करने की होड़ शुरू हो गई है.

एक ओर जहां बीजेपी और जेडीयू में खींचतान है, वहीं आरजेडी और कांग्रेस में इसपर रार बढ़ गई है. दोनों ही गठबंधन दलों के बीच बयानबाजियों का सिलसिला भी शुरू हो गया है. महागठबंधन में 'बड़ा भाई' बनने की होड़ कुछ अधिक ही दिख रही है.

ये भी पढ़ें-  मुजफ्फपुर शेल्टर होम केस में 21 चार्जशीट दाखिल करेगी CBI, 18 दिसंबर से पॉक्सो कोर्ट में सुनवाई

आरजेडी के भाई वीरेन्द्र ने जैसे ही ये कहा कि बिहार में कांग्रेस नहीं, आरजेडी बड़ा भाई है तो कांग्रेस ने पलटवार करने में देर नहीं की. कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा है कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और केंद्र में तो छोटा भाई तो हो ही नहीं सकता. जाहिर है दोनों ही दलों के बीच ये बयानबाजी आखिरकार सीट शेयरिंग में अपना असर दिखाने वाला है.

दरअसल तीन राज्यों में कांग्रेस ने काफी संघर्ष के बाद सत्ता प्राप्त किया है इससे उसका हौसला भी सातवें आसमान पर है. बिहार कांग्रेस भी उत्साहित है और प्रदेश में 'बिग ब्रदर' बनने की जुगत में है. जबकि आरजेडी ने पहले से ही 20-20 का फार्मूला सेट कर दिया है. इसमें 20 सीटों पर आरजेडी और बाकी 20 सीटों पर कांग्रेस समेत गठबंधन के अन्य दल चुनाव लड़ेंगे. इसमें कांग्रेस के लिए 8 से 10 सीटें रखी गई हैं. अब सवाल ये है कि क्या कांग्रेस इतने कम सीटों पर मान जाएगी.

ये भी पढ़ें- बिहार से बाहर फिर 'फ्लॉप' हुए नीतीश, राजस्थान-छत्तीसगढ़ में JDU के सभी प्रत्याशियों की जमानत जब्त

वहीं जेडीयू ने भी खुद को बड़ा भाई साबित करने के लिए सियासी तीर छोड़ दिए हैं. जेडीयू के कद्दावर नेता महेश्वर हजारी ने स्पष्ट कहा है कि बिहार में नीतीश कुमार पहले भी बड़े भाई थे और आगे भी रहेंगे. वहीं जेडीयू नेता अशोक चौधरी ने भी साफ कहा है कि नीतीश कुमार के चेहरे को ही बिहार में आगे किया जाएगा और इससे एनडीए को फायदा होगा.
Loading...

उन्होंने स्पष्ट कहा कि बिहार में किसी और चेहरे को आगे करने का सवाल ही नहीं है. उनका इशारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चेहरे पर अगला लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर है. हालांकि
बीजेपी नेता और मंत्री विनोद सिंह ने डिफेंसिव रुख अपनाते हुए कहा कि कोई बड़ा भाई और छोटा भाई नहीं है, दोनों बराबर हैं.

बहरहाल बिहार की राजनीतिक जमीन पर 'बिग ब्रदर' बनने की होड़ क्या असर दिखाएगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा. हालांकि इतना तय है कि 'बिग ब्रदर' पॉलिटिस्क सीट शेयरिंग के फार्मूले में खुद के लिए अधिक से अधिक सीटों की चाहत के अलावा कुछ और नहीं है.

इनपुट- आनंद अमृतराज

ये भी पढ़ें-  तीन राज्यों में बंपर जीत के बावजूद कांग्रेस को महागठबंधन की स्टीयरिंग देने के मूड में नहीं हैं तेजस्वी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2018, 2:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...