Home /News /bihar /

पद्म श्री पुरस्कार पाने वाले मनोज वाजपेयी कौन हैं? पढ़ें

पद्म श्री पुरस्कार पाने वाले मनोज वाजपेयी कौन हैं? पढ़ें

अभिनेता मनोज वाजपेयी

अभिनेता मनोज वाजपेयी

मनोज वाजपेयी को फिल्म सत्या के लिए सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार और फ़िल्मफेयर का सर्वोत्तम अभिनेता पुरस्कार (समीक्षक) दिया गया. 1999 में आई फिल्म शूल में उनके किरदार के लिए उन्हें फिल्मफेयर का सर्वोत्तम अभिनेता पुरस्कार मिला.

अधिक पढ़ें ...
जाने-माने अभिनेता मनोज वाजपेयी को इस साल के लिए पद्म श्री पुरस्कार के लिए उनका चयन किया गया है. उन्हें यह पुरस्कार भारतीय फिल्म उद्योग में उनके योगदान के लिए दिया गया है. बिहारी माटी के इस लाल ने भारतीय हिन्दी फिल्म जगत में अपनी अलग पहचान बनाई है.सतत प्रयोग में विश्वास रखने वाले अभिनेता के तौर पर भी उन्हें जाना जाता है. इसके लिए उन्हें कई फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार और राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार भी मिल चुके हैं.

वे अपने अभिनय की वजह से पूरी फिल्‍म में जान डालने की काबिलियत रखते हैं.  1998 में रिलीज हुई  फिल्म सत्या के बाद मनोज ने कभी वापस मुड़ कर नहीं देखा. इसमें उनके द्वारा निभाये गए भीखू म्हात्रे के किरदार के लिये उन्हेx कई पुरस्कार मिले.

ये भी पढ़ें-  संघवाद-समाजवाद को साथ साधने में बेजोड़ हैं हुकुमदेव नारायण यादव

इसके लिए सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार और फ़िल्मफेयर का सर्वोत्तम अभिनेता पुरस्कार (समीक्षक) भी दिया गया. 1999 में आई फिल्म शूल में उनके किरदार समर प्रताप सिंह के लिए उन्हें फिल्मफेयर का सर्वोत्तम अभिनेता पुरस्कार मिला. अमृता प्रीतम के मशहूर उपन्यास 'पिंजर' पर आधारित फिल्म पिंजर के लिये उन्हें एक बार फिर राष्ट्रीय पुरस्कार मिला.

ये भी पढ़ें- द्म पुरस्‍कारों की घोषणा: हुकुमदेव नारायण यादव को पद्म भूषण और मनोज वाजपेयी को पद्मश्री

मनोज का जन्म बिहार के नरकटियागंज के पास एक छोटे से गांव बेलवा में हुआ था. उन्होंने अपनी स्‍कूली पढ़ाई राजा हाई स्‍कूल, बेतिया जिले से की थी.  इसके बाद वे सत्‍यवती कॉलेज गए जिसके बाद स्‍नातक की पढ़ाई के लिए दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के रामजस कॉलेज गए. चार बार नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा से खारिज कर दिए जाने के बाद उन्‍होंने बैरी  ड्रामा स्‍कूल से बैरी जॉन के साथ थियेटर कियाा.

मनोज ने अपने करियर की शुरुआत टेलीविजन से की थी. उनके फिल्‍मी करियर की शुरुआत फिल्‍म 'द्रोहकाल' से हुई थी जिसमें उनकी बिना श्रेय की भूमिका थी. उन्होंने अपना फिल्मी करियर 1994 में शेखर कपूर निर्देशित फिल्म बैंडिट क्वीन से शुरु किया था.उन्‍हें बड़ा ब्रेक मिला रामगोपाल वर्मा की फिल्‍म 'सत्‍या' से.

ये भी पढ़ें-  नीतीश कुमार की ही बोली बोलते हैं उनके मंत्री: तेजस्वी यादव

 

Tags: Bihar News, Manoj bajpai, PATNA NEWS

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर