Bihar Assembly Election: वर्चुअल नहीं, एक्चुअल चुनाव ही क्यों चाहती है RJD ?
Patna News in Hindi

Bihar Assembly Election: वर्चुअल नहीं, एक्चुअल चुनाव ही क्यों चाहती है RJD ?
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) से लेकर आरजेडी के कद्दावर नेता भी समझते हैं कि अगर कोरोना काल में चुनाव हुआ तो हर हाल में नुकसान आरजेडी (RJD) को ही झेलना पड़ेगा.

  • Share this:
पटना. कोरोना संक्रमण के खतरे (Corona infection risk) के बीच ही बिहार में विधानसभा का चुनाव  (Assembly election in Bihar) होना है. ऐसे में तमाम सियासी पार्टियां अभी से ही चुनाव की तैयारियों में जुट गई हैं. बीजेपी-जेडीयू (BJP-JDU) जैसी पार्टियां खुद को डिजिटली ट्रेंड भी कर रही हैं साथ में वर्चुअल रैलियां भी कर रही हैं. वहीं, आरजेडी (RJD) एक अकेली पार्टी है जो अक्टूबर में होनेवाले इस चुनाव को टालना चाहती है. दरअसल जब भी कोरोना काल में चुनाव को लेकर आरजेडी नेता व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) से कोई सवाल किया जाता है तो अक्सर वे कोरोना संक्रमण का हवाला देकर आगामी विधानसभा चुनाव को टालने की बात करते हैं.

आरजेडी पर कोरोना इफेक्ट
आरजेडी के नेता भले ही विरोधियों को ये ताल ठोककर कहें कि उनके युवराज तेजस्वी किसी से डरते नहीं, लेकिन ये हकीकत है कि वे कोरोना काल में चुनाव नहीं चाहते हैं. उनकी दलील होती है कि समूचे देश भर में कोरोना का खतरा अब तक टला नहीं है और खासकर बिहार के लोग अब भी इस त्रासदी से त्राहिमाम हैं,  ऐसे में इतना जल्दी चुनाव कराना हरगिज सही नहीं है. अब सवाल ये है कि क्या वाकई तेजस्वी की दलील में कोई दम है या फिर तेजस्वी चुनाव में जाने से डरे हुए हैं और कोरोना का बहाना बना रहे हैं.

JDU-BJP का तीखा निशाना
जेडीयू प्रवक्ता निखिल मंडल कहते हैं कि तेजस्वी और आरजेडी के पास न तो कोई मुद्दा है और न ही उनकी पार्टी के पास कोई विजन है, ऐसे में जनता के बीच आखिर तेजस्वी किस मुंह से वोट मांगने जाएंगे. साथ में उनकी पार्टी डिजिटली साक्षर भी नहीं है ऐसे में कोरोना काल में चुनाव होने का मतलब है कि आरजेडी की लुटिया डूबनी तय है. कुछ इसी तरह से बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद भी देते हैं. वे तेजस्वी पर तंज कसते हुए कहते हैं कि मुद्दाविहीन, दिशाविहीन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी न तो खुद साक्षर हैं और न ही उनकी पार्टी हाईटेक हैं. ऐसे में डिजिटल चुनाव तो दूर वर्चुअल रैली करना भी आरजेडी के लिए चांद पर पहुंचने जैसा ही है.



RJD की ये है दलील
आरजेडी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी कहते हैं कि हमारी पार्टी वर्चुअल नहीं एक्चुअल पर विश्वास करती है और एक्चुअल स्थिति ये है कि बिहार और समूचे देश भर में कोरोना का खतरा अब भी मंडरा रहा है. ऐसे में आरजेडी जैसी एक्चुअल पार्टी इस संक्रमण में पहले जनता को सुरक्षित रखना चाहती है. बीजेपी-जेडीयु की तरह नहीं जो सत्ता की लालच में बिहार की जनता को कोरोना की आग में झोंकना चाहते हैं. मृत्युंजय तिवारी ताल ठोक कर कहते हैं कि आरजेडी और लालू यादव की पार्टी को किसी का डर नहीं है और न ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव किसी की झूठी भभकी से डरते हैं. तेजस्वी शेर हैं.

क्या कहते हैं राजनीतिक जानकार
राजनीतिक जानकार और वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय का कहना है कि अकेले तेजस्वी को छोड़कर पार्टी के अधिकांश नेता और कार्यकर्ता सोशल मीडिया फ्रेंडली नहीं हैं. साथ में आरजेडी के जो मूल वोटर्स हैं जिनके दम पर लालू यादव का लंबे समय से बिहार में दबदबा रहा है उन्हें भी डिजिटल और हाईटेक युग का  ज्ञान नहीं है ऐसे में वर्चुअल रैली की कल्पना करना भी शायद बेमानी है. शायद इसी हकीकत को तेजस्वी बखूबी जान गए हैं इसलिए वो चाहते हैं कि कोरोना संकटकाल के बाद ही चुनाव कराया जाए ताकि पुराने अंदाज में रैलियां हो सकें और उनके मूल वोटर्स तक उनकी बात सीधी पहुंच सके.

रवि उपाध्याय की मानें तो आरजेडी वही पार्टी है जिसके नेता पिछले 3 दशकों से अपने वोटरों को लाठी में तेल पिलाने और लाठी घुमाने की बात करते रहें हैं. लालू यादव की एक आवाज पर उनके हजारों-लाखों वोटर्स हाथों में लाठी लिए पटना के गांधी मैदान में रैली में पहुंचा करते थे. उन वोटरों के हाथों से एकदम से लाठी हटाकर लैपटॉप या Android phone पकड़वाना बेहद कठिन है.

बहरहाल इन परिस्थितियों के बीच भी आरजेडी अब भी ताल ठोक कर कहती है कि चुनाव में जाने से न तो उनकी पार्टी डरती है और न ही उनके नेता. अब देखना दिलचस्प होगा कि इस वर्चुअल और एक्चुअल की सियासत के बीच चुनाव अगर कोरोना काल में ही चुनाव हुआ तो किसका पलड़ा भारी पड़ता है.

ये भी पढ़ें

Bihar MLC Election: महागठबंधन और NDA की एकजुटता का इम्तिहान, जानें सीटों का समीकरण

'संकटमोचक दोस्त' रघुवंश बाबू की बीमारी से परेशान हुए लालू, बेचैनी से रात में नहीं आई नींद!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading